आधार पर बोलीं ममता, बंद कर दो मेरा फोन, आधार से लिंक नहीं कराऊंगी

कोलकाता, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी केंद्र के खिलाफ मोर्चा खोलने का कोई भी मौका हाथ से नहीं जाने देतीं. वह नोटबंदी, जीएसटी से लेकर केंद्र सरकार के हर कदम का विरोध करती आ रही हैं. अब इस कड़ी में मोबाइल फोन के आधार लिंक की अनिवार्यता जुड़ गई है.

बुधवार को नजरूल मंच में आयोजित तृममूल कोर कमेटी की बैठक में ममता ने पार्टी नेताओं व पंचायत से लेकर संसद तक के करीब 3500 जनप्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए केंद्र को चुनौती दे दी. ममता ने कहा कि वह अपना मोबाइल कनेक्शन बंद करवाने को तैयार हैं, लेकिन वह अपने फोन को आधार से लिंक नहीं कराएंगी.ममता ने नजरूल मंच में मौजूद पार्टी नेताओं और आम लोगों से भी अपनी बात का पालन करने की अपील करते हुए आरोप लगाया कि फोन नंबर से आधार को जोड़ने के पीछे लोगों की निजता में दखल डालने की साजिश है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं आपसे इसी अंदाज में विरोध करने की अपील करती हूं. वे कितने लोगों के टेलीफोन कनेक्शन काटेंगे? भारतीय जनता पार्टी क्या चाहती है? क्या वे लोगों की गुप्त बातों को सुनना चाहते हैं? यह लोगों की प्राइवेसी पर सीधा हमला है. ममता ने इसके साथ ही एलान किया कि नोटबंदी के एक साल पूरे होने पर उनकी पार्टी आठ नवंबर को पूरे राज्य में काले झंडों के साथ विरोध प्रदर्शन करते हुए काला दिवस मनाएगी. उन्होंने नोटबंदी को सबसे बड़ा घोटाला करार दिया.