आत्महत्या के खिलाफ मुहिम चलाने वाली बाइकर सना इकबाल की सड़क हादसे में मौत

हैदराबाद, युवाओं में बढ़ती आत्महत्या और अवसाद के प्रति जागरुकता फैलाने के उद्देश्य से अभियान चला चुकीं क्रॉस-कंट्री बाइकर सना इकबाल की मंगलवार सुबह एक दर्दनाक सड़क हादसे में मौत हो गई. इस बात की जानकारी देते हुए पुलिस अधिकारी ने बताया कि तड़के साढ़े तीन बजे शहर के बाहरी इलाके में हुए हादसे में उनके पति भी घायल हुए हैं लेकिन सना इस दुनिया में नहीं रही.

नरसिंगी पुलिस थाने के निरीक्षक जीवीआर गौड़ ने बताया कि 29 साल की सना और उनके पति कार से यहां के टोलीचौकी इलाके में स्थित अपने घर की तरफ जा रहे थे जब कार बाहरी मुद्रिका सड़क पर डिवाइडर से टकरा गई. उन्होंने कहा, सना के पति अब्दुल नदीम कार चला रहे थे. सना हादसे में बुरी तरह घायल हो गईं और उन्हें पास के एक अस्पताल ले जाया गया, लेकिन वहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. नदीम का इलाज चल रहा है.

मात्र 29 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कहने वाली सना पेशे से इंजीनियर थीं. उन्होंने अपनी मोटरसाइकल से देशभर में 38 हजार किलोमीटर तक का सफर तय किया था. नवंबर 2015 में अकेले ही देश भ्रमण पर निकलने से पहले वह तनाव से जूझ रही थीं. तनाव से उबरने का कोई रास्ता नहीं दिख रहा था. इस यात्रा के दौरान लोगों से मिलकर उनका जीवन के प्रति नजरिया ही बदल गया और इसके बाद उन्होंने लोगों को जागरूक करने का बीड़ा उठाया और वो युवाओं को समझाने में जुट गईं कि वो आत्महत्या जैसा अपराध न करें. इसके लिए वह देशभर में स्कूल और कॉलेजों में भी गईं. जिंदगी को बेहद खुबसूरत कहने वाली सना इस तरह से दुनिया को छोड़ जाएंगी, ऐसा किसी ने कभी सोचा भी नहीं था.