ISIS ने जारी की एक नई वीडियो, वीडियो में दिख रहा भारतीय डॉक्टर

सीरिया|… सीरिया इस्लामिक स्टेट (ISIS) ने एक वीडियो जारी किया है, जिसमें एक भारतीय डॉक्टर दिखाया जा रहा है. ये वीडियो इस्लामिक हैल्थ सर्विस के नाम से जारी किया गया है और इसमें अस्पताल में अबू अल मुकातिल नाम का डॉक्टर दुनिया के अन्य डॉक्टरों को ISIS के लिए आमंत्रित कर रहा है. भारतीय जांच एजैंसियां इस वीडियो में दिख रहे शख्स की पूरी जानकारी जुटाने में लग गई हैं. अबू अल मुकातिल दक्षिण भारत का रहने वाला है और ISIS के रिक्रूटमेंट सैल का चीफ है.

ये कई नाम से प्रचार वीडियो बनाकर भारत समेत कई देशों के नौजवानों को बगदादी की सेना में भर्ती कर चुका है तकरीबन 15 मिनट 28 सैकेंड का ‘हैल्थ सर्विस इन द इस्लामिक स्टेट’ नाम का ये वीडियो फिलहाल भारतीय जांच एजेैसियों के तमाम अफसरों के लिए न सिर्फ पहेली बना हुआ है, बल्कि इस वीडियो में एक भारतीय डाक्टर की मौजूदगी ने रॉ, आईबी समेत तमाम जांच एजैंसियों की नींद उड़ा दी है.

दरअसल इस वीडियो में इस्लामिक स्टेट में बने एक हैल्थ सर्विस को दिखाया गया है, जिसमें ऑस्ट्रेलिया से रेडिक्लाइज हो चुका एक डॉक्टर बगदादी को अपनी सेवाएं देने के लिए सीरिया पहुंचा है. वहीं एक भारतीय मौजूद है, जिसे इस वीडियो में कोड नेम अबु अल मुकातिल दिया गया है. हिंदुस्तान से इस्लामिक स्टेट पहुंचा ये शख्स वीडियो में बगदादी के गढ़ में बने हैल्थ सेंटर के बारे में ना सिर्फ बता रहा है बल्कि पूरी दुनिया के मैडूीकल की जानकारी रखने वालों और डाक्टरों को इस्लामिक स्टेट में अपनी सेवाएं देने के लिए आमंत्रित भी कर रहा है.

वीडियो में डाक्टर कह रहा है ‘फिजियो थैरपी ईलाज का एक बेहतर तरीका है, जो हर अस्पताल की जरूरत है. हमारे पास कई स्टाफ हैं, फिजियो थैरपी डॉक्टर कई देशों से यहां मौजूद हैं. हमारे पास रशिया, श्रीलंका, शाम (सीरिया), ऑस्ट्रेलिया, ट्यूनिशिया जैसे कई देशों के डॉक्टर मौजूद हैं . हमारे पास महिला फिजियोथैरपी डाक्टर भी मौजूद हैं, जो महिलाओं और बच्चों का इलाज करती हैं . हमने रोज 40 मरीजों को देखने से शुरुआत की थी और आज हर रोज 400 लोगों को देख रहे हैं . हम पूरी दुनिया में मौजूद मेडीकल की जानकारी रखने वालों और डाक्टरों से गुजारिश करते हैं कि वो हमारी मदद करें इस दौरा-ए-इस्लामियां को आगे बढ़ाने में अल्लाह की खातिर .’

भारत से सीरिया में इस्लामिक स्टेट ज्वाइन कर चुके कई भारतीयों में ज्यादातर केरल, तमिलनाडु और कर्नाटक के रहने वाले हैं . हालांकि जांच एजैंसियों के पास सटीक आंकड़ा मौजूद नहीं है . इनमें से सैकड़ों के मारे जाने की भी खबर है .टर्की से डिपोर्ट कर दिल्ली पुलिस को सौंपे गए शाहजहां कैंडी ने भी ये खुलासा किया था .कैंडी गलत नाम और पहचान पर टर्की के रास्ते सीरिया जा रहा था. बता दें की शाहजहां कैंडी केरल का रहने वाला है और पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया का सक्रिय सदस्य भी है .