शरद यादव ने रखी नई पार्टी की नींव, रमई को बनाया प्रदेश अध्यक्ष

बिहार समेत 19 राज्यों में जदयू के नए प्रदेश अध्यक्षों की शनिवार को नियुक्ति कर नई पार्टी की नींव रखने की शुरुआत कर शरद खेमे ने इसका साफ संदेश दिया है. पूर्व मंत्री रमई राम को बिहार में शरद की अगुआई वाले जदयू का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है. इन नियुक्तियों के साथ शरद खेमे ने अगले साल मार्च में पार्टी संगठन के चुनाव कराने का भी ऐलान किया है.

शरद यादव ने इन नियुक्तियों का ऐलान करते हुए यह भी साफ कर दिया कि उनकी राजनीतिक लड़ाई केवल राज्यसभा सदस्यता बचाने तक सीमित नहीं बल्कि भाजपा-नीतीश गठजोड़ को चुनौती देने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर विपक्षी दलों को एकजुट करेंगे. जदयू के शरद गुट के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष छोटूभाई बसावा ने यादव की सहमति से 19 राज्यों में कार्यकारी अध्यक्षों के साथ राष्ट्रीय पदाधिकारियों की नियुक्ति की है. इस कदम से साफ है कि शरद जदयू पर दावे की लड़ाई के बीच अपनी नई पार्टी का पूरा ढांचा तैयार कर रहे हैं. नई पार्टी के ढांचे को अगले साल मार्च में संगठन चुनाव के जरिए पूरा आकार दिया जाएगा.

चुनाव आयोग में जदयू पर दावे की अपनी अपील में दम होने का दावा करते हुए प्रेस कांफ्रेंस में शरद यादव ने कहा कि उनके लिए सदस्यता नहीं बल्कि राष्ट्रीय हित के सवाल अहम हैं. जब चुनाव आयोग जदयू पर दावे की लड़ाई में फैसला नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली पार्टी के पक्ष में दे चुका है तो फिर उसी नाम से दूसरा समानांतर संगठन चलाने का औचित्य क्या है? शरद यादव ने इसके जवाब में कहा कि पहले भी पार्टियों में अंदरुनी विवाद के बाद अलगाव हुआ तो अंतिम फैसला होने तक ऐसा हुआ है और चुनाव आयोग के अंतिम फैसले तक यह स्थिति बनी रहेगी. खुद के 15 लोकसभा चुनाव लड़ने और 11 बार सांसद के तौर पर शपथ लेने का हवाला देते हुए शरद ने कहा कि देश की खातिर सदस्यता जाने की उनको परवाह नहीं है.

राज्यसभा सभापति वेंकैया नायडू से इस मामले में नोटिस मिलने की पुष्टि करते हुए शरद ने कहा कि अपने वकील के साथ वे इसका समुचित जवाब देंगे. विपक्षी दलों को एकजुट करने की अपनी पहल के तहत साझी विरासत बचाओ सम्मेलनों की श्रृंखला का आयोजन कर रहे शरद ने 27 अक्टूबर को मुंबई में इसका आयोजन करने की घोषणा भी की. इस दौरान उन्होंने किसानों की बदहाली से लेकर नौकरियों की चिंताजनक हालत को लेकर एनडीए सरकार को कठघरे में खड़ा किया.

जदयू के शरद खेमे के राष्ट्रीय पदाधिकारियों में राज्यसभा सांसद अली अनवर समेत चार उपाध्यक्ष और अरुण कुमार श्रीवास्तव व जावेद रजा समेत 10 महासचिव नियुक्ति किए गए हैं. वहीं छह सचिव के साथ सलीम मदावूर को युवा जदयू का अध्यक्ष नियुक्ति किया गया है. प्रदेश अध्यक्षों में सुरेश निरंजन भैया को उत्तरप्रदेश, राव कमलबीर सिंह को हरियाणा, प्रमोद शर्मा-उत्तराखंड, रामस्वरुप यादव-झारखंड, इंदर मोहन तार सिंह-जम्मू कश्मीर के साथ दिल्ली में बलबीर ठाकुर को शरद गुट का कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया गया है.