साइरस मिस्त्री ने पत्नी को भेजा था मैसेज- मुझे नौकरी से निकाला जा रहा है

पिछले साल जब टाटा सन्स बोर्ड ने साइरस मिस्त्री को सभी पदों से बर्खास्त किया था, उस वक्त ये खबर कारपोरेट जगत में आग की तरह फैल गई थी. लेकिन साइरस को अपनी नौकरी जाने का अंदेशा पहले से हो गया था और इसलिए उन्होंने अपनी पत्नी रोहिका को एक मैसेज भेजा था कि उन्हें नौकरी से निकाला जा रहा है.

साइरस ने 24 अक्टूबर, 2016 को अपनी पत्नी को एक मैसेज भेजा था, जिसमें उन्होंने लिखा था कि उन्हें टाटा सन्स बोर्ड मीटिंग में नौकरी से बर्खास्त कर दिया जाएगा, उन्हें दिन में 2 बजे एक मीटिंग अटेंड करनी थी, जिसमें उनके निकालने पर फैसला होगा. इस बात का खुलासा ग्रुप एग्जिक्युटिव काउंसिल के पूर्व मेंबर निर्मलय कुमार ने किया है.

जिन्होंने अपने ब्लॉग में इस बात का जिक्र करते हुए लिखा है कि कंपनी मिस्त्री को हटाए जाने के मामले को और बेहतर ढंग से हैंडल कर सकती थी. सार्वजनिक तौर पर मिस्त्री को अपमानित करना और फिर उसके बाद जो कुछ हुआ उसे टाला जा सकता था.

उन्होंने कहा कि मिस्त्री का कॉन्ट्रैक्ट 31 मार्च, 2017 को खत्म होना था. इस तरह अचानक उन्हें निकालने के बजाय बोर्ड चाहता तो सिर्फ 5 महीने का इंतजार कर सकता था लेकिन ऐसा नहीं हुआ और जो हुआ वो सही नहीं हुआ. टाटा ग्रुप ने आज तक मिस्त्री को हटाए जाने का वाजिब कारण नहीं बताया है, अपनी ‘हायर ऐंड फायर’ पॉलिसी के लिए जाने जाने वाले टाटा ग्रुप ने मिस्त्री का चयन बहुत ही सावधानी से किया था फिर अचानक से ही उनके अंदर सारे दोष कंपनी को कैसे नजर आ गए.