चीन में तख्तापलट करना चाहते थे चीन के राजनीतिक दिग्गज पर …

बीजिंग |….. चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने एक समय पूर्व राजनीतिक दिग्गजों के तख्तापलट की कोशिश को नाकाम कर दिया था. चाइना सिक्यूरिटीज रेगुलेटरी कमीशन के अध्यक्ष लिउ शियू ने शुक्रवार को इस बात का खुलासा किया. गौरतलब है कि शी दूसरी बार सत्तारुढ कम्युनिस्ट पार्टी आफ चाइना (सीपीसी) के महासचिव का कार्यभार संभालने जा रहे हैं.

हांगकांग के साउथ चाइना मार्निंग पोस्ट के अनुसार लिउ ने यह सनसनीखेज खुलासा सीपीसी की पांच साल में एक बार होने वाली बैठक से अलग एक सभा में किया. समाचार पत्र में शुक्रवार को प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार लिउ ने सीपीसी की 19वीं कांग्रेस से इतर एक कार्यक्रम में आरोप लगाया कि सत्ता हासिल करने के लिए असंतुष्ट कैडरों ने यह साजिश रची थी.

शीर्ष चाइनीज अधिकारियों के मुताबिक ये विद्रोही पार्टी के सदस्य थे और भ्रष्टाचार के आरोप में शी के उठाये कड़े कदमों की वजह से जेल जा चुके थे. उन्होंने यह भी बताया कि इस तरह की कोशिशों से पार्टी के इमेज को धक्का लगा है. प्रेस कॉफ्रेंस के दौरान उन सदस्यों का नाम भी बताया गया और कहा गया कि वह भ्रष्ट और लालची थे. इन दो विद्रोही नेताओं में पूर्व चीफ सिक्युरिटी जाउ योंगकांग और सीपीसी के प्रमुख नेताओं मे से एक बो जिलाई और सन जींगसाई थे. इन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया गया. शी ने भ्रष्टाचार के आरोप में करीब दस लाख लोगों को जेल भेज चुके हैं. वहीं शी की इस कथित कार्रवाई को कई लोगों ने राजनीति से प्रेरित भी बताया. वहीं चीनी राष्ट्रपति शी ने पार्टी में अंदरूनी मतभेद की खबरों को खारिज कर दिया था.