रंजीत कुमार ने सॉलिसीटर जनरल पद से दिया इस्तीफा

वरिष्ठ अधिवक्ता रंजीत कुमार ने ‘निजी कारणों से’ सॉलिसीटर जनरल पद से इस्तीफा दे दिया है. यह देश का दूसरा सबसे वरिष्ठ विधि अधिकारी का पद है. विधि एवं न्याय मंत्री रवि शंकर प्रसाद के कार्यालय को रंजीत कुमार का त्याग पत्र शुक्रवार को मिला. रंजीत कुमार ने सॉलिसीटर जनरल पद से इस्तीफा देने की पुष्टि की.

मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद जून 2014 में रंजीत कुमार को सॉलिसीटर जनरल नियुक्त किया गया था. सॉलिसीटर जनरल के रूप में उनका दूसरा कार्यकाल हाल ही में शुरू हुआ था. कुछ महीने पहले यह चर्चा थी कि उच्चतम न्यायालय की कॉलेजियम शीर्ष अदालत के न्यायाधीश पद के लिये उनके नाम पर विचार कर रही है.

अटॉर्नी जनरल और सॉलिसिटर जनरल भारत सरकार का पक्ष विभिन्न अदालतों में रखते हैं. रंजीत कुमार गुजरात सरकार के वकील रह चुके हैं और कई मामलों में पक्ष रख चुके हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रंजीत कुमार बिजी शेड्यूल की वजह से परिवार को वक्त नहीं दे पा रहे थे अब वो अपनी फैमिली के साथ समय बिताएंगे.

हाल ही में, वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने अटॉर्नी जनरल के पद से इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने सरकार को लिखे पत्र में कहा था कि अटॉर्नी जनरल के रूप में दूसरे कार्यकाल में उनकी दिलचस्पी नहीं है. रोहतगी के इस्तीफे के बाद वरिष्ठ अधिवक्ता के के वेणुगोपाल को नया अटॉर्नी जनरल नियुक्त किया गया था.