सीएम ने दिया हल्द्वानी को 20 करोड़ का दिवाली गिफ्ट, म्यूजिकल फब्बारों समेत विद्युत शवदाह गृह निर्माण को दी मंजूरी

सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत हल्द्वानी में पंडित दीनदयाल उपाध्याय चौक का उद्घाटन करते हुए

दीपावली के पावन मौके पर सूबे के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिह रावत ने बुधवार को महानगर हल्द्वानी के वाशिंदो को दीपावली की सौगात के तौर पर महानगर क्षेत्र के अन्तर्गत होने वाले 20 करोड 13 लाख की विभिन्न विकास योजनाओं का वैदिक मंत्रो के बीच लोकापर्ण एवं शिलान्यास किया. उन्होने चित्रशिला घाट मे 2.50 करोड की लागत से बनने वाले आधुनिकतम विद्युत शवदाह गृह निर्माण, सुशीला तिवारी चिकित्सालय के पास सडक चैडीकरण एवं पार्किग, जेल रोड व पनचक्की चैराहे पर म्यूजिकल फब्बारों की स्थापना की घोषणा की.

मेयर डा0 जोगेन्द्र पाल सिह रौतेला के नेतृत्व में आयोजित भव्य समारोह में मुख्यमंत्री द्वारा 2 करोड 13 लाख की लागत के लोकापर्ण किये. जिसके तहत 63 व्यक्तियों के लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय रैन बसेरा लागत 102.65 लाख, 62 व्यक्तियो के लिए एपीजे अब्दुल कलाम आजाद रैन बसेरा लागत 48.63 लाख तथा तिकोनिया चैराहे पर पं0 दीनदयाल उपाध्याय की नवनिर्मित मूर्ति स्थापना एवं चैराहे का विस्तारीकरण एवं सौन्दर्यीकरण कार्य लागत 61 लाख का लोकापर्ण किया गया. कार्यक्रम में मुख्यमंत्री द्वारा 18 करोड 88 लाख की विभिन्न सीवरेज एवं पेयजल योजनाओ का शिलान्यास किया गया. जिसमें हल्द्वानी आवास विकास, सुभाष नगर, डिग्री कालेज एवं महिला डिग्री कालेज पेयजल योजना कुल लागत 14.83 करोड के अलावा हल्द्वानी काठगोदाम सीवरेज योजना पार्ट-1 कुल लागत 2.81 करोड तथा हल्द्वानी काठगोदाम सीवरेज योजना पार्ट-2 कुल लागत 1.24 करोड का शिलान्यास भी किया.

पंडित दीनदयाल चैराहे पर आयोजित जनसभा को सम्बोधित करते हुये प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिह रावत ने सभी को दीपावली की शुभकामनाये देते हुये कहा कि विकास की रोशनी हर गरीब के दरवाजे तक पहुचाना हमार नैतिक दायित्व है. नगरों, महानगरो के साथ ही गांव-गांव तक विकास पहुचाने के लिए प्रदेश सरकार पूरी तत्परता से कार्यरत है. विकास कार्यो को धरातल तक पहुचाने के लिए भारत सरकार की ओर से भी भरपूर आर्थिक मदद दी जा रही है. देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा केन्द्र सरकार के विभिन्न मंत्रीयो द्वारा समय-समय पर प्रदेश मे आकर विकास कार्यो का जायजा लिया जाता है और प्रदेश सरकार को बेहतर कार्य करने के लिए मार्ग दर्शन भी दिया जाता है. उन्होने कहा कि हम भ्रष्टचार मुक्त शासन देने के लिए संकल्पित है. उन्होने कहा कि भ्रष्टाचार रोकने से धन की बर्बादी रूकेगी और यह पैसा विकास कार्यो में लगेगा. उन्होने कहा युद्व में शहीद सैनिकों के आश्रितो को राजकीय सेवा में लिया जायेगा, साथ ही 2.50 लाख से कम वार्षिक आमदनी वाले परिवारो को निशुल्क गैस संयोजन के साथ ही राज्य में एक लाख चालीस हजार बेघर परिवारो को आवास दिया जायेगा. उन्होने बताया कि प्रदेश के 156 थानो को सुदृढ करने के लिए पहली बार 3 करोड की धनराशि दी गई है. आगामी जनवरी मेे सीपैड संस्थान की स्थापना एवं आगामी एक वर्ष में निफ्ट संस्थान प्रारम्भ किया जायेगा.

मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुये मेयर डा0 जोगेन्द्र पाल सिह रौतेला ने कहा कि हल्द्वानी काठगोदाम नगर निगम का क्षेत्र काफी व्यापक है. अधिक जनसंख्या होने के कारण जनमानस की अपेक्षायें भी अधिक है. हम हल्द्वानी को आदर्श महानगर के रूप में विकसित करने के लिए कृत संकल्पित है. उन्होने बताया कि अमृत योजना के अन्तर्गत तीन योजनाओं के लिए 25.5 करोड, सीवरेज एवं सेप्टेज की 6 योजनाओं के लिए 54.88 करोड, हरित स्थल एवं पार्को के विकास की 5 योजनाओं के लिए 1.66 करोड कुल 14 योजनाओं के लिए 82.04 करोड की धनराशि भी स्वीकृत हो चुकी है. यह कार्य जल्द ही महानगर क्षेत्र की धरातल पर आयेंगे. उन्होने मुख्यमंत्री से चित्रशिला घाट पर विद्युत शवदाह गृह एवं सौन्दर्यीकरण के साथ ही सम्पर्क मार्ग बनाने की मांग रखी.

कार्यक्रम में विधायक बशीधर भगत, नवीन दुम्का, संजीव आर्य, दीवान सिह विष्ट, महेश नेगी, रामसिह कैडा, पूर्व सांसद बच्ची सिह रावत, बलराज पासी, जिलाध्यक्ष प्रदीप विष्ट, महामंत्री गजराज विष्ट, अलावा बडी संख्या मे गणमान्य लोग एवं क्षेत्रवासी मौजूद थे.