गुजरात में हमारे विकासवाद और कांग्रेस के वंशवाद की जंग है : पीएम मोदी

प्रतीकात्मक फोटो

कांग्रेस पार्टी और उसके नेतृत्व को विकास एवं गुजरात विरोधी करार देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि बीजेपी के लिए चुनाव ‘विकासवाद की जंग है, कांग्रेस के लिए वंशवाद की जंग है और मुझे पूरा विश्वास है कि गुजरात में विकासवाद जीतने वाला है, वंशवाद हारने वाला है.’

पाटीदार आंदोलन के बाद पटेल समुदाय के एक वर्ग की नाराजगी को समझते हुए प्रधानमंत्री ने कहा. ‘जब जब गुजरात में चुनाव आता है, उनको (कांग्रेस) जरा ज्यादा बुखार आता है, तकलीफ ज्यादा बढ़ जाती है. इस पार्टी और परिवार को गुजरात आंखों में चुभता रहा है. सरदार बल्लभ भाई पटेल के साथ इस पार्टी ने, इस परिवार ने किस तरह का व्यवहार किया, इतिहास इसका गवाह है. मैं इसे दोहरना नहीं चाहता. सरदार पटेल की पुत्री मणिबेन और पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई के साथ किस प्रकार का व्यवहार इस पार्टी ने किया, यह सभी के सामने है. इनको हर प्रकार से नेस्तनाबूद करने का काम किया. गुजरात उनको (कांग्रेस और उसके नेतृत्व) पसंद ही नहीं था. उसने बाबू भाई पटेल के नेतृत्व वाली सरकार को तोड़ने का काम किया.’

‘गुजरात गौरव महासम्मेलन’ को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ‘कांग्रेस पार्टी ने हमेशा कुर्सी का खेल खेला, वंशवाद को कैसे सलामत रखना है, इस पार्टी ने हमेशा इसकी चिंता की. उनको न देश की चिंता है और न समाज की. चुनाव हमारे (भाजपा) लिए विकासवाद की जंग है, उनके (कांग्रेस) लिए वंशवाद की जंग है. मेरा पूरा विश्वास है कि इसमें विकासवाद जीतने वाला है और वंशवाद हारने वाला है.’

उन्होंने कहा कि मैं लंबे समय से इंतजार कर रहा था कांग्रेस विकास के नाम पर चुनाव लड़े. कांग्रेस ने विकास के मुद्दे पर कभी चुनाव लड़ने की हिम्मत नहीं दिखाई. मैं एक बार फिर से कांग्रेस पार्टी को चुनौती देता हूं कि वे विकासवाद के मुद्दे पर चुनाव लड़ें और लोगों को भ्रमित करने का काम छोड़ें.

राहुल और सोनिया गांधी का नाम लिए बिना प्रधानमंत्री ने कहा कि जो जेल की सजा काटे हैं, उनके साथ ये कंधे से कंधा मिलाकर खड़े होते हैं. जमानत पर छूट कर आए हैं, भ्रष्टाचार के मामले में मां और बेटा जमानत पर हैं. यह पार्टी ही जमानती है. और ये लोग मुझसे सवाल कर रहे हैं. जिनके मुखिया भ्रष्टाचार के आरोप में कोर्ट से जमानत पर बाहर हों, क्या ऐसे लोग गुजरात का भला करेंगे.

कांग्रेस एवं उसके नेतृत्व पर प्रहार जारी रखते हुए मोदी ने कहा कि इनको गुजरात से नफरत है, जनसंघ से नफरत है, भाजपा से नफरत है. इन लोगों और पार्टी ने कभी हमें गांधी का हत्यारा कहा, कभी शहर की पार्टी कह दिया, कभी दलित विरोधी कहा. उन्होंने हमें दलित विरोधी कहा, आज सबसे ज्यादा दलित सासंद बीजेपी के हैं, उन्होंने हमें किसान विरोधी कहा, आज संसद में सबसे ज्यादा ओबीसी सांसद बीजेपी के हैं.

उन्होंने सवाल किया कि कौन कहता है गांव के लोगों को सड़क नहीं चाहिए, कौन कहता है गरीबों के बच्चों को शिक्षा नहीं मिलनी चाहिए, कौन कहता है कि युवाओं को रोजगार नहीं चाहिए, बुजुर्गों को रोजगार नहीं चाहिए.

गुजरात के बीजेपी के विकास मॉडल पर कांग्रेस एवं राहुल गांधी के तंज का परोक्ष जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि इनका विकास से कोई नाता नहीं है, उनको एक ही चीज की आदत लगी है और उनके नेता, पार्टी और परिवार भ्रष्टाचार में डूबी रही है.