सोमालिया: ट्रक धमाके में मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 230

शनिवार को सोमालिया की राजधानी मोगादिशू में एक ट्रक धमाके में 230 लोगों की मौत हो गई. शहर के बाशिंदों ने इसे हाल के वर्षों का सबसे शक्तिशाली धमाका बताया है. पुलिस के मुताबिक, धमाके में मरने वालों की तादाद बढ़ सकती है.
पुलिस कैप्टन मोहम्मद हुसैन ने बताया कि ‘ऐसा जान पड़ता है कि इस धमाके में होडान जिले में एक व्यस्त मार्ग पर एक होटल को निशाना बनाया गया. धमाके में कम से कम 15 अन्य लोग घायल हो गए. सुरक्षाबलों ने संदेह होने पर इस ट्रक का पीछा करना शुरू किया था.’

पहला बड़ा धमाक मोगादिशु में एक होटल के प्रवेश के पास विस्फोटकों से भरे ट्रक में धमाका किया गया जिसमें करीब 100 लोग घायल हो गए हैं. विस्फोट स्थल पर गोलियां चलने की आवाज सुनाई दी और शहर में चारों तरफ एंबुलेंस के सायरन की आवाज गूंज रही थीं. इस विस्फोट से महज दो दिन पहले अमेरिका की अफ्रीका कमान के प्रमुख सोमालिया के राष्ट्रपति से मिलने के लिए मोगादिशू में थे.

अभी ये साफ नहीं है कि हमले के पीछे कौन है. मोगादिशु चरमपंथी संगठन अल कायदा के जुड़े अल शबाब गुट के निशाने पर रहता है जो सोमालियाई सरकार के खिलाफ लड़ रहा है. बता दें कि दो दिन पहले ही देश के रक्षा मंत्री और सेनाप्रमुख ने अज्ञात कारणों से इस्तीफा दिया है.

पुलिस के मुताबिक, इस घटना में मरने वालों की संख्या 231 हो गई है जबकि 275 से अधिक लोग घायल हुए हैं राष्ट्रपति मोहम्मद अब्दुल्लाह मोहम्मद ने देश में तीन दिन की शोक की घोषणा की है. अस्पतालों द्वारा खून डोनेट करने की अपील के बाद राष्ट्रपति समेत देश के हजारों लोग अस्पतालों में खून देने के लिए पहुंच रहे हैं.

अलकायदा से जुड़ा अल-शबाब संगठन अक्सर ऐसी घटनाओं को अंजाम देता रहा है. यह संगठन संयुक्त राष्ट्र समर्थिक सरकार और अफ्रीकी यूनियन के सहयोगियों के खिलाफ युद्ध छेड़ रखा है. यह तख्ता पलट कर अपनी सत्ता स्थापित करना चाहता है. इस संगठन का मोगादिशु पर नियंत्रण था लेकिन दबाव के कारण 2011 में इसने अपना नियंत्रण छोड़ दिया.