गुजरात : दुष्कर्म के आरोप में जैन मुनि शांति सागर गिरफ्तार

सूरत, गुजरात के सूरत में जैन मुनि दिगंबर आचार्य शांतिसागर को कथित दुष्‍कर्म मामले में शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया.19 वर्षीय शिकायतकर्ता छात्रा के अनुसार, भगवान महावीर के नानपुरा स्थित दिगम्बर जैन मंदिर में आशीर्वाद लेने गई छात्रा के साथ शांतिसागर ने दुष्‍कर्म किया.

45 वर्षीय शांतिसागर के खिलाफ अठवा थाने में मुकदमा दर्ज किया गया और मेडिकल जांच के लिए छात्रा को भेज दिया गया जहां दुष्‍कर्म की पुष्टि हुई है. पुलिस ने दिगम्बर मंदिर में छापेमारी कर आरोपी शांतिसागर को गिरफ्तार कर लिया.

मूल रूप से मध्‍यप्रदेश की छात्रा वडोदरा के कॉलेज में पढ़ाई करती है. वह कथित जैन मुनि के पास एक अक्टूबर को आशीर्वाद लेने आई थी. आशीर्वाद लेने के लिए उनके उपाश्रय गई थी। आरोप है कि शांतिसागर महाराज ने छात्रा से कहा कि मंत्र जाप करने के लिए उसे रात में मंदिर में ही रुकना होगा. रात में कथित जैन मुनि कमरे में आए और उसके साथ रेप किया.

आरोप है कि आचार्य शांतिसागर महाराज ने रेप के बाद छात्रा को धमकी देते हुए कहा था कि वह बाहर जाकर इस बारे में किसी को नहीं बताए, वरना उसके साथ कुछ भी हो सकता है. छात्रा के पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराते ही जैन मंदिर में और इस समाज से जुड़े लोग एकत्र हुए और आरोपी जैन मुनि को बचाने की काशिश में जुट गए.

जैन समाज के लोग एकत्र होकर कमिश्नर से मिलने पहुंचे और कहा कि जैन समाज को बदनाम करने के लिए लड़की झूठा आरोप लगा रही है. इस मामले की न्यायिक जांच कराई जाए. मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि होने पर शनिवार शाम आरोपी आचार्य शांतिसागर महाराज को गिरफ्तार कर लिया गया.