चीन को झटका, हंबनटोटा में हवाई अड्डा बनाएगा भारत

नई दिल्ली, भारत जल्द से जल्द श्रीलंका के हम्बनटोटा एयरपोर्ट का संचालन अपने हाथ में लेने की कोशिश में है, जहां चीन ने ‘वन बेल्ट वन रोड परियोजना (ओबीओआर)’ के तहत भारी निवेश किया है. इसे भारत को घेरने की चीन की कोशिश को तगड़ा झटका माना जा रहा है. मत्ताला एयरपोर्ट में भारत 70 फीसदी निवेश करेगा.

दरअसल, श्रीलंका के सिविल एविएशन मिनिस्टर निमल सीरीपाला ने बताया कि भारत ने श्रीलंका के दक्षिणी द्वीप पर एक एयरपोर्ट के निर्माण में रुचि दिखाई है. श्रीलंका का ये क्षेत्र कई मायनों में खास है, यहां से चीन की महत्वाकांक्षी योजना वन बेल्ट वन रोड गुजरती है. हंबनटोटा श्रीलंका के दक्षिण में बसा एक शहर है. सरकार इस शहर के महत्व को देखते हुए इसका विकास करने में लगी हुई है. जिसके लिए यहां नया बंदरगाह और एयरपोर्ट का निर्माण किया जा रहा है.

एयरपोर्ट के निर्माण के लिए श्रीलंका सरकार को निवेशक तलाश थी. सीरीपाला ने बताया कि इसी दौरान भारत एक प्रपोजल पेश किया, जिसमें उसने हंबनटोटा में एयरपोर्ट निर्माण में रुचि दिखाई. उन्होंने बताया कि भारत सरकार श्रीलंका के साथ इस ज्वाइट वेंचर में काम करने के लिए तैयार है