अल्मोड़ा : सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने किया वयोश्री योजना का शुभारम्भ

अल्मोड़ा,  बी0पी0एल0 श्रेणी के वरिष्ठ नागरिको को शारिरिक सहायक यंत्र और जीवन सहायक उपकरण प्रदान करने सम्बन्धी राष्ट्रीय वयोश्री योजना जो केन्द्र सरकार द्वारा चलायी गयी है उसका लाभ सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों के पात्र व्यक्तियों को मिल सके यह हमारी प्राथमिकता है यह बात प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरुवार को  भारतीय कृत्रिम अंग विनिमार्ण निगम (एलिम्को) द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कही. उन्होंने कहा कि भारत सरकार के सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय एवं सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग द्वारा यह योजना चालू की गयी है. उत्तराखण्ड में जनपद अल्मोड़ा से इसकी शुरूआत की गयी है.

अभी तक देश के 08 प्रान्तों में यह कार्यक्रम आयोजित किये गये है. 09वॉ प्रान्त उत्तराखण्ड चुना गया है. इस योजना के अन्तर्गत केन्द्र सरकार द्वारा प्रत्येक प्रान्त के 02 जनपदो को चयनित किया जा रहा है. उत्तराखण्ड में इसी तरह का अगला कार्यक्रम हरिद्वार में आयोजित होगा.मा0 मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार द्वारा 2.50 लाख से कम आय वाले ऐसे 04 लाख से अधिक लोगो को उज्जवला योजना के तहत निःशुल्क गैस कनैक्शन से आच्छादित किया जायेगा साथ ही वीरगति प्राप्त सैनिक एवं अर्द्धसैनिक बलो के परिवार के आश्रितों को अनिवार्य रूप से राजकीय सेवा में रखा जायेगा. उन्होंने कहा कि चारधाम यात्रा और अधिक सुविधा सम्पन्न हो सके और वहॉ पर अधिकाधिक पर्यटक आ सके इसके लिए नये केदारपुरी का निर्माण शीघ्र किया जा रहा है इसके लिए 20 अक्टूबर को देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी केदारनाथ आ रहे है. केदारपुरी को नये डिजायन में बनाने के लिए मास्टर प्लान तैयार किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य में सबसे अधिक पलायन जनपद पौड़ी व अल्मोड़ा में हो रहा है इसके लिए सरकार ने पौड़ी में इसके मुख्यालय खोलने का निणर्य लिया है इसके लिए हमें गॉवों में शिक्षा, स्वास्थ्य एवं रोजगार के नय अवसर पैदा करने होंगे.मा0 मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के 670 न्याय पंचायतों को ग्रोथ सेन्टर के रूप में विकसित करना चाहते है जिसमें 150 से 200 तक लोगो को रोजगार मुहैया कराया जा सके जिसके लिए प्रारम्भिक चरण में 50 सेन्टर में यह काम शुरू कर दिया जायेगा.स्वास्थ्य सेवाओं को बढ़ावा देने के लिए प्रत्येक जिले में 02 आई0सी0यू0 सेन्टर की स्थापना की जा रही है इसके साथ ही टेलीमेडिशन और टेली रेडियोलाजी के माध्यम से इसकी शुरूआत की जायेगी.

उन्होंने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की जो मा0 प्रधानमंत्री की परिकल्पना है उसके लिए आगे आने की बात कही और बेटियों के जन्म पर एक पौधा रोपण कर इस कार्य में योगदान देने का आहवान किया इसके साथ ही उन्होंने कहा कि स्वच्छता को जन आन्दोलन बनाने की जरूरत है ताकि 2022 तक जिस सपनो के भारत की परिकल्पना की जा रही है वह साकार हो सके.इस कार्यक्रम कें उन्होंने दिव्यांग लोगो को कृत्रिम, सहायता उपकरण वितरित किये. इस योजना का शुभारम्भ करने के लिए केन्द्र से आये दोनो मंत्रियो का आभार व्यक्त किया.इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे मा0 केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावर चन्द गहलोत ने कहा कि राष्ट्रीय वयोश्री योजना का शुभारम्भ आन्ध्र प्रदेश के नल्लौर जिले में 01 अपै्रल, 2017 को आयोजित किया गया था.

राष्ट्रीय वयोश्री का यह 9वॉ वितरण शिविर है जिसमें अभी तक कुल 16361 लाभार्थी तथा कुल उपकरणों की संख्या 28005 नित्य जीवन सहायक उपकरण दिये जा चुके है जिसकी कुल लागत धनराशि लगभग 05 करोड़ रू0 की है.उन्होंने कहा कि मंत्रालय को विभिन्न गैर सरकारी संस्थाओं व वरिष्ठ नागरिकों द्वारा एडिप योजना के समरूप वरिष्ठ नागरिकों के लिए एक नई योजना का प्रारम्भ करने का आग्रह किया गया जिसके अन्तर्गत देश के अति वरिष्ठ नागरिको को उसका लाभ मिल सके.इस योजना के अन्तर्गत शारिरिक दुर्बलता के अनुरूप लाभार्थियों को सहायक उपकरण व यन्त्र उपलब्ध कराये जा रहे है जिनमें व्हील चेयर, छड़ी, कान की मशीन, वॉकर, बैशाखी, नजर का चश्मा व कृत्रिम दॉत है.

उन्होंने बताया कि आज के इस शिविर में कुल 513 लोगो को कृत्रिम उपकरण बॉटे गये जिनमें 696 कान की मशीन, 34 व्हील चेयर, 745 चश्मे, 288 कृत्रिम दॉत व 788 छड़ी वितरित की गयी. उन्होंने यहॉ के जनप्रतिनिधियों से कहा कि वे अपने जिले में डेकेयर सेन्टर व वृद्धाश्रम खोलने के लिए जिला प्रशासन को सहयोग प्रदान करें.इस कार्यक्रम में मा0 केन्द्रीय कपड़ा राज्यमंत्री अजय टम्टा, केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री कृष्णकान्त गुर्जर, मा0 विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चौहान, महिला कल्याण व बाल विकास मंत्री श्रीमती रेखा आर्या ने अपने विचार रखते हुए कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा चलायी जा रही इस योजना का लाभ पात्र लोगो को मिले इसके लिए हम सभी को प्रयास करने होंगे. उन्होंने कहा कि जनपद में इसकी शुरूआत होने से गरीब दिव्यांग लोगो को एक नई आशा की किरण जगी है.

आज इस कार्यक्रम में हर्ष सिंह, बचुली देवी, बची राम, गोपुली देवी, दीवान राम, गोपुली देवी, प्रतिमा देवी, हयात सिंह जो हवालबाग, ताकुला व भैसियाछाना ब्लॉक के थे उन्हें मा0 मुख्यमंत्री सहित विशिष्ट अभ्यागतो ने कृत्रिम उपकरण प्रदान किये.इस कार्यक्रम में मा0 मुख्यमंत्री ने योग आधारित एक पुस्तक का विमोचन किया जो डा0 नवीन भटट द्वारा लिखी गयी है साथ ही उन्होंने बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओ योजना के तहत स्वयंसेवी संस्था घनश्याम ओली वेलफेयर सोसायटी का एक प्रतीक चिन्ह का भी लोकार्पण किया.इस अवसर पर एलिम्को के प्रबन्ध निदेशक डी0आर सलीम द्वारा इस योजना के बारे में विस्तृत रूप से बताया गया.

इस कार्यक्रम में विधायक बागेश्वर चन्दन राम दास, विधायक द्वाराहाट महेश नेगी, भाजपा जिलाध्यक्ष ललित लटवाल, अनिल साही, पूर्व जिलाध्यक्ष रमेश बहुगुणा, अरविन्द बिष्ट, गोविन्द पिलख्वाल, भाजपा नेता मोहन पाल, महामंत्री रवि रौतेला, महेश नयाल, अवर सचिव सामाजिक न्याय अधिकारिता मंत्रालय रविन्द्र सिंह, हरीश कुमार, मुकेश मिश्रा, आर0सी0 जोशी के अलावा जिलाधिकारी इवा आशीष, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पी0 रेणुका देवी, मुख्य विकास अधिकारी मयूर दीक्षित, अपरजिलाधिकारी के0एस0 टोलिया, उपजिलाधिकारी विवेक राय, रजा अब्बास, अवधेश सिंह, परियोजना निदेशक नरेश कुमार, जिला विकास अधिकारी मोहम्मद असलम सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे. कार्यक्रम का संचालन विभुकृष्णा ने किया.