राम रहीम का नया पैतरा, ज़ुर्माना भरने के लिए नहीं है पैसा

दो साध्वियों से बलात्कार के मामले में 20 साल की सजा काट रहे डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम ने पंचकुला कोर्ट में एक बड़ा बयान दिया. दो साध्वियों से दुष्कर्म मामले में उस पर लगे जुर्माने को भरने में वह खुद को अक्षम बता रहा है. उसने सोमवार को हुई सुनवाई साध्‍वियों को पैसे देने में खुद असमर्थ बताया.

कोर्ट में राम रहीम के वकील ने बताया कि उसके पास जुर्माना भरने के लिए भी पैसा नहीं है.उन्होंने कहा कि उनके इतने हालात ठीक नहीं है कि वो दो साध्वियों को 30 लाख रुपया दे सकें. गौरतलब है मामले में पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट ने राम रहीम पर जुर्माना लगाया था, जिसके तहत पीड़िताओं को दिए जाने वाली जुर्माना राशि जमा करने के लिए कहा है.

लेकिन कोर्ट में राम रहीम के वकील एस के गर्ग ने कहा कि डेरा की सारी संपत्ति को अटैच करने के बाद अब उनके मुवक्किल के पास रेप पीड़िताओं को पैसा देने की हालत नहीं है. उन्होंने कोर्ट में कहा कि डेरा प्रमुख राम रहीम ने दुनिया से पूरी तरह संन्यास ले लिया है.जबकि सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि राम रहीम को ये पैसा 2 महीने के अंदर बैंक में जमा करना होगा, ताकि पूरा पैसा रेप पीड़िताओं को मिल सके.

कोर्ट ने आगे यह भी कहा कि अगर राम रहीम को पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट से कोई राहत मिलती है तो ये पैसा ब्याज समेत वापस कर दिया जाएगा। नहीं तो ये पूरा पैसा पीड़िताओं को दिया जाएगा। जबतक आप इस पैसे की एफडी कराएं।

जज सुर्या कांत और सुधीर मिश्रा की बैंच ने सीबीआई को नोटिस जारी किया है. राम रहीम ने पंचकुला सीबीआई कोर्ट से 20 साल की सजा के लिए पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी. वहीं उससे पहले बीते 4 अक्टूबर को सीबीआई कोर्ट के फैसले के खिलाफ पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट में राम रहीम की सजा के खिलाफ दोनों रेप पीड़िताओं ने भी याचिका दायर की थी.