अन्ना हजारे ने केजरीवाल पर फिर निकाला गुस्सा, कहा- दूर ही रहें अब

समाजसेवी अन्ना हजारे- फाइल फोटो

गांधीवादी समाजसेवी अन्ना हजारे ने सोमवार को कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी भ्रष्टाचार मुक्त भारत बनाने का अपना वादा पूरा करने में नाकाम रहे हैं. उन्होंने कहा पीएम ने ‘लोकपाल विधेयक’ को लाने के लिए कुछ नहीं किया.

अन्ना हजारे ने भ्रष्टाचार से निपटने के लिए किए जा रहे प्रयासों को नाकाफी बताते हुए गांधी जयंती के अवसर पर राजघाट पर एक दिन का उपवास कर भ्रष्टाचार के खिलाफ सत्याग्रह की शुरुआत की. इस दौरान उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की भी आलोचना की. हजारे ने कहा कि केजरीवाल राजनीति में आने के बाद लोकपाल आंदोलन को भूल गए. उन्होंने किरण बेदी और वीके सिंह पर भी निशाना साधा.

अन्ना हजारे ने कहा, ‘हमारी टीम में ये सभी लोग थे. हमने लोकपाल के लिए इतना बड़ा आंदोलन किया. राजनीति में जाने के बाद ये लोग लोकपाल को भूल गए. कोई मुख्यमंत्री बन गया, कोई राज्यपाल बन गया और कोई केंद्र सरकार में मंत्री बन गया और फिर लोकपाल (आंदोलन) को भूल गए.’

अन्ना ने कहा, अगर केजरीवाल उनके आंदोलन में शामिल होना चाहेंगे, तो उनसे कहेंगे कि वह दूर बने रहें. केजरीवाल ने फरवरी, 2014 में लोकपाल विधेयक दिल्ली विधानसभा में पारित नहीं होने पर मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था.