डीएम ने डॉक्टर की तरह किया मरीजों का इलाज

सोमवार को चंपावत के जिला अस्पताल में तब अजीब सी स्थिति पैदा हो गई जब जिलाधिकारी ने खुद डॉक्टर की तरह मरीजों को देखना शुरू कर दिया.

दरअसल यह बात कम ही लोगों को मालूम है कि 2010 बैच के आईएएस डॉक्टर अहमद इकबाल एक एमबीबीएस डॉक्टर हैं और 2010 में आईएएस में सेलेक्शन से ठीक पहले 2009 में उन्होंने कर्नाटक के कस्तूरबा मेडिकल कॉलेज, मैंगलोर से एमबीबीएस की डिग्री ली थी.

अब 15 सितम्बर को उत्तराखंड मेडिकल काउंसिल में पंजीकरण की मंजूरी मिलने के बाद उन्होंने खाली समय में मरीजों को देखना बी शुरू कर दिया है. जिले के मुखिया अब जिला अस्पताल में बाकी डॉक्टरों की तरह की मरीजों को देख रहे हैं.

उन्होंने कहा कि खाली समय में मरीजों को देखा करेंगे. इससे डॉक्टरों के ऊपर का दबाव तो कुछ कम होगा ही उनकी डॉक्टरी की पढ़ाई भी बेकार नहीं जाएगी.