इस दिन विधि विधान के साथ बंद होंगे यमुनोत्री धाम के कपाट

शीतकाल के लिए यमुनोत्री धाम के कपाट बंद करने की तिथि घोषित कर दी गई है.यमुनोत्री धाम के कपाट 21 अक्तूबर को 1.27 मिनट पर बंद किए जाएंगे.

यमुनोत्री मंदिर समिति के सचिव कृतेश्वर प्रसाद उनियाल ने बताया कि भैया दूज पर्व के अमृत योग के मौके पर कपाट बंद करने से पूर्व 12.54 पर मां यमुना की विधि-विधान से पूजा-अर्चना की जाएगी.

इसके बाद भव्य डोली यात्रा के साथ मां की मूर्ति को शीत प्रवास के लिए खरसाली लाया जाएगा. यहां श्रद्धालु शीतकाल के दौरान मां यमुना के दर्शन कर सकेंगे.

वहीं शनिवार को दशहरे के मौके पर बदरी-केदार समिति द्वारा बदरीनाथ और केदारनाथ के कपाट बंद होने की तिथि भी घोषित कर दी गई है. बदरीनाथ धाम के कपाट आगामी 19 नवम्बर को शाम 7 बजकर 28 मिनट पर शीतकाल के लिए बंद होंगे.

जबकि भैयादूज के पावन पर्व पर 21 अक्तूबर को केदारनाथ धाम के कपाट शीतकाल के लिए बंद किए जाएंगे. द्वितीय केदार भगवान मद्महेश्वर के कपाट 27 अक्तूबर को बंद होंगे. ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में पंचाग गणना के आधार पर तिथि घोषित की गई.