कुमाऊं के इस अधिकारी को मिली बड़ी कमान, बने अंडमान के नये उपराज्यपाल

उत्तराखंड निवासी एडमिरल (रि.) देवेंद्र कुमार जोशी अंडमान निकोबार के नए उपराज्यपाल नियुक्त किये गए हैं. वो प्रोफेसर जगदीश मुखी का स्थान लेंगे. 4 जुलाई, 1954 को अल्मोड़ा में जन्मे जोशी भारत के 21वें नौसेनाध्यक्ष थे. वो 31 अगस्त, 2012 से 26 फ़रवरी, 2014 तक इस पद रहे. इनकी धर्मपत्नी का नाम चित्रा जोशी है और इनकी दो बेटियां है.

ए‍डमिरल जोशी अंडमान-निकोबार द्वीप कमान और यहां एकीकृत रक्षा स्टाफ मुख्यालय के प्रभारी भी रहे हैं. उन्होंने विजाग स्थित पूर्वी बेड़े का भी नेतृत्व किया है. उन्होंने 01 अप्रैल 1974 को भारतीय नौसेना के एक्‍जीक्‍यूटिव ब्रांच में कमीशन प्राप्त किया था

जोशी विमानवाहक पोत ‘आईएनएस विराट’, गाइडेड मिसाइल विनाशक ‘रणवीर’ और ‘आईएनएस कुठार’ की कमान भी संभाल चुके हैं. उन्होंने सिंगापुर में भारतीय उच्चायोग में 1996 से 1999 के दौरान रक्षा सलाहकार के रूप में भी सेवाएं दी हैं.

अमेरिका के नेवल वॉर कॉलेज से स्नातक जोशी मुंबई स्थित नेवल वॉरफेयर कॉलेज और यहां के नेशनल डिफेंस कॉलेज में भी अध्ययन कर चुके हैं. आइएनएस सिंधुरत्न दुर्घटना और इससे पहले हुई सिलसिलेवार दुर्घटनाओं की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए उन्होंने 26 फरवरी 2014 को अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. ऐसा करने वाले वो भारत के पहले नौसेनाध्यक्ष हैं. उनके बाद उप-प्रमुख वाइस एडमिरल रॉबिन धवन को कार्यवाहक नौसेनाध्यक्ष बनाया गया था.