NH-74 घोटाले का पर्दाफाश करने वाले पांडियन को मिली पुलिस ​सुरक्षा

उत्तराखंड के उधमसिंह नगर जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग-74 के चौड़ीकरण के लिए हुए भूमि अधिग्रहण में करोडों रुपये के घोटाले को सामने लाने वाले भारतीय प्रशा​सनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी डी. सेंथिल पांडियन को उनके अनुरोध पर गुरुवार को पुलिस सुरक्षा प्रदान कर दी गई.

 

प्रदेश के पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी ने बताया कि राज्य सरकार के आदेश पर पांडियन को एक गनर उपलब्ध करा दिया गया है. पांडियन ने ​घोटाले में कथित रूप से लिप्त लोगों से खुद को खतरा बताते हुए कार्मिक विभाग को इस संबंध में एक पत्र लिखकर अपने लिए सुरक्षा मांगी थी.

 

पांडियन ने कुमांऊ आयुक्त के पद पर रहते हुए एनएच-74 चौड़ीकरण के लिए हुए भूमि अधिग्रहण की जांच में करीब 300 करोड़ रुपये के घोटाले का पर्दाफाश किया था. इस जांच रिपोर्ट पर कार्रवाई करते हुए त्रिवेंद्र सिंह रावत की अगुवाई वाली बीजेपी सरकार ने कई एसडीएम स्तर के अधिकारियों को निलंबित करते हुए मामले की जांच सीबीआर्इ से कराने की घोषणा की थी.

 

इस मामले की सीबीआर्इ जांच अभी तक शुरू नहीं हो पायी है. हालांकि इसी बीच, पांडियन को कुमांऊ आयुक्त के पद से शासन में सचिव पद पर स्थानांतरण कर दिया.