माल्या ने 6000 करोड़ का कर्ज शेल कंपनियों को ट्रांसफर किया

देश छोड़कर भाग चुके भगोड़े कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ सी.बी.आई. और ई.डी. जल्द एक नई चार्जशीट दाखिल करेगी. माल्या पर आरोप है कि किंगफिशर एयरलाइंस की हालत सुधारने के लिए देश के बैंकों से जो 6 हजार करोड़ से अधिक का लोन उठाया था उसका विदेशों में स्थित शेल कंपनियों में ट्रांसफर किया गया है.

 

जांच में पता चला कि रकम को कथित तौर पर लगभग सात देशों की शेल कंपनियों में ट्रांसफर किया गया. यह कंपनियां अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस और आयरलैंड जैसे देशों में स्थित हैं. माल्या ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से कुल 1600 करोड़ रुपए का कर्ज उठाया है.

माल्या के ऊपर कुल कर्ज 9000 करोड़ रुपए के करीब बैठता है और वह इस कर्ज को चुकाए बिना देश छोड़कर लंदन भाग गया था, भारत सरकार उसको लंदन से वापस लाने के लिए प्रयास कर रही है.

 

लंदन से माल्या के प्रतर्पण के लिए वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में प्रत्यर्पण केस की अगली सुनवाई 20 नवंबर को होगी. माल्या मार्च 2016 से ब्रिटेन में रह रहा है और उसे प्रर्त्यपण वारंट मामले में अप्रैल 2017 में भी गिरफ्तार किया गया था.