गुरमीत जेल में, हनीप्रीत लुका-छिपी के खेल में; ‘पापा की एंजिल’ की संपत्ति होगी कुर्क

हनीप्रीत इंसा-फाइल फोटो

हरियाणा पुलिस ने शनिवार को कहा कि उसने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह की कथित ‘दत्तक पुत्री’ हनीप्रीत इंसां और समुदाय के कुछ अन्य पदाधिकारियों को भगोड़ा अपराधी घोषित करने की प्रक्रिया शुरू की है.

इसके अलावा पुलिस ने हनीप्रीत और डेरा के प्रमुख पदाधिकारियों आदित्य इंसां और पवन इंसां की संपत्ति कुर्क करने का फैसला किया है. हनीप्रीत की गिरफ्तारी के लिए पुलिस बहुत जोर लगा रही है लेकिन अभी तक वह गिरफ्तार नहीं कर पाई है.

सिरसा में संवाददाताओं से बातचीत में हरियाणा के डीजीपी बीएस संधू ने कहा, ‘दो से तीन लापता लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की गई. हम लोगों ने उनको भगोड़ा अपराधी घोषित करने की प्रक्रिया शुरू की है. उनकी निजी संपत्तियों को कुर्क किया जाएगा…ये लोग हैं आदित्य इंसां, पवन इंसां और हनीप्रीत इंसां.’

उन्होंने कहा, ‘मैं उनको आगाह करना चाहता हूं कि उनको पुलिस के समक्ष पेश होना चाहिए और जांचकर्ताओं को अपने पक्ष से अवगत कराना चाहिए.’ पुलिस महानिदेशक ने कहा कि बलात्कार के मामले में राम रहीम को दोषी ठहराए जाने के बाद हुई हिंसा के सिलसिले में हनीप्रीत और अन्य दो को गिरफ्तार करने की कोशिश जारी है.

उन्होंने कहा कि इसके लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चेतावनी जारी की गई है और टीम छापेमारी कर रही हैं. डीजीपी ने कहा कि 25 अगस्त तक हनीप्रीत पर कोई मामला दर्ज नहीं था, लेकिन डेरा पदाधिकारी सुरिंदर धीमान की गिरफ्तारी के बाद उसकी भूमिका संदेह के घेरे में आ गई.

संधू ने कहा, ‘इसलिए मामला दर्ज किया गया है और उसको गिरफ्तार करने के प्रयास जारी हैं.’ राम रहीम से हनीप्रीत के बारे में पूछताछ किए जाने की संभावना के बारे में पूछे जाने पर डीजीपी ने कहा कि जरूरत के अनुसार किसी से भी पूछताछ की जाएगी.