कोर्ट-कचहरी के साथ-साथ इन तीन चक्कर में फंसा लालू परिवार

पटना, कोर्ट-कचहरी के साथ-साथ आयकर, ईडी और सीबीआई के चक्कर में पूरा लालू परिवार फंसा हुआ है. लालू प्रसाद, उनकी पत्नी राबड़ी देवी, बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव, छोटे बेटे तेजस्वी प्रसाद यादव, बड़ी बेटी मीसा भारती, दामाद शैलेश कुमार और एक और बेटी हेमा यादव के खिलाफ पूछताछ और जांच की नोटिस जारी हो रहीं. ताजा नोटिस है लालू और तेजस्वी के खिलाफ. उन्हें 25 और 26 को दिल्ली में सीबीआइ के सवालों का सामना करना है.

चारा के बाद फिर घेर रही सीबीआई

चारा घोटाले में प्राय: लालू प्रसाद को रांची जाना पड़ता है. रेलवे के रांची और पुरी स्थित दो होटलों को कोचर नियम-कानून ताक पर रखकर 60 वर्षों के लिए लीज पर देने के मामले में सीबीआई ने फिर उन्हें घेर रही. सीबीआई ने विगत 7 जुलाई को राबड़ी देवी के पटना स्थित सरकारी आवास समेत कुल 12 ठिकानों पर छापेमारी भी की थी.

ईडी के घेरे में मीसा

प्रवर्तन निदेशालय ने मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार के खिलाफ फर्जी कंपनियों के नाम पर हजार करोड़ से भी अधिक कालेधन को सफेद बनाने का मामला दर्ज कर उनकी दिल्ली और पटना की संपत्तियों को जब्त करने की कार्रवाई शुरू कर दी है. अबतक कई संपत्तियों को जब्त किया जा चुका है. ईडी और आयकर विभाग ने मीसा भारती और उनके पति से इस मामले में कई दौर की पूछताछ की है.

तेजस्वी और राबड़ी आयकर के चक्कर में भी

बेनामी संपत्ति मामले में आयकर विभाग ने तेजस्वी और राबड़ी देवी से एक दौर की पूछताछ पूरी कर ली है. इस मामले में आयकर विभाग दोनों से आगे भी पूछताछ कर सकता है.

बड़े बेटे तेजप्रताप को भी आयकर ने नोटिस जारी की थी, लेकिन उन्होंने सेहत का हवाला देकर आयकर विभाग की पूछताछ में शामिल होने के लिए समय की मांग की थी, जिसे स्वीकार कर लिया गया. आयकर विभाग तेजप्रताप से भी पूछताछ करेगा.