हनीप्रीत को भगोड़ा अपराधी घोषित करेगी पुलिस, जारी किया इंटरनैशनल अलर्ट

डेरा सच्चा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की कथित मुंहबोली बेटी हनीप्रीत और डेरा के 2 और सदस्यों को पकड़ने के लिए इंटरनैशनल अलर्ट जारी कर दिया गया है. हरियाणा पुलिस ने कहा है कि हनीप्रीत समेत अन्य फरार आरोपियों को भगोड़ा अपराधी घोषित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.

 

पुलिस ने इसके अलावा हनीप्रीत के साथ-साथ आदित्य इंसां और पवन इंसां की संपत्तियों को जब्त करने का भी फैसला लिया है. डेरा राम रहीम के ये दो सदस्य (आदित्य और पवन) भी हनीप्रीत की ही तरह फरार चल रहे हैं. हरियाणा डीजीपी बीएस संधु ने कहा है कि इनके खिलाफ लीगल ऐक्शन लिया जा रहा है.

 

डीजीपी ने बताया कि उन्हें भगोड़ा अपराधी घोषित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. उन्होंने बताया कि इनकी संपत्ति भी जब्त की जाएगी. डीजीपी संधु ने आरोपियों को चेतावनी देते हुए कहा कि उन्हें जांचकर्ताओं के समक्ष पेश होकर अपना पक्ष रखना चाहिए. डीजीपी ने कहा कि हनीप्रीत समेत अन्य की धरपकड़ के लिए कोशिश की जा रही है. उन्होंने कहा कि इंटरनैशनल अलर्ट जारी कर दिया गया है और पुलिस की टीम जगह-जगह रेड मार रही है. डीजीपी ने बताया कि 25 अगस्त तक हनीप्रीत के खिलाफ कोई केस नहीं था, लेकिन डेरा के कर्मचारी सुरिंदर धीमान की गिरफ्तारी के बाद उसकी भूमिका भी संदिग्ध हो गई.

 

डीजीपी ने बताया कि इसके बाद हनीप्रीत पर भी मामला दर्ज किया गया और पकड़ने के लिए अभियान चलाया गया. डीजीपी के मुताबिक पुलिस को सूचना मिली थी कि हिंसा के बाद हनीप्रीत सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा आई थी. हनीप्रीत को पकड़ने के लिए हरियाणा और राजस्थान पुलिस की टीम ने श्री गंगानगर में छापा मारा था. राम रहीम के पैतृक घर की तलाशी ली गई थी पर हनीप्रीत नहीं मिली.