राम रहीम के बाद अलवर के जगदगुरु फलाहारी बाबा पर लगा दुष्कर्म का आरोप

जयपुर, राम रहीम के बाद अब छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले की एक छात्रा ने राजस्थान के फलाहारी बाबा पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अर्चना झा ने आज यहां बताया कि बिलासपुर की एक युवती के साथ राजस्थान के अलवर स्थित फलाहारी बाबा द्वारा दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है. युवती जयपुर में पढ़ती है और अगस्त माह में अपना पहला वेतन बाबा के आश्रम में दान करने गई थी. युवती ने बिलासपुर के महिला थाने में मामले की एफआईआर दर्ज करा दी है.

 

झा ने बताया कि बिलासपुर में रहने वाली 20 वर्षीय एक युवती राजस्थान के जयपुर में रहकर कानून की शिक्षा ले रही थी. युवती का परिवार राजस्थान के अलवर स्थित मधुसूदन आश्रम के बाबा रामानुजाचार्य स्वामी कौशलेन्द्र प्रपन्नाचारी फलाहारी महाराज के अनुयायी हैं. बाबा की सिफारिश पर युवती ने दिल्ली के एक वकील के पास इंटर्नशिप किया था जिसमे उसे मानदेय के रूप में तीन हजार रूपए प्राप्त हुए थे.

 

अधिकारी ने बताया कि युवती मानदेय को अपने माता-पिता को देना चाहती थी लेकिन माता-पिता ने उसे सुझाव दिया कि वह यह राशि उनके पारिवारिक गुरु के अलवर स्थित आश्रम में दान कर दे. युवती परिजनों का कहना मानकर रक्षाबंधन के दिन अलवर के मधुसूदन आश्रम गई. उसने बाबा को वह राशि दान स्वरुप दी तब फलाहारी बाबा ने कहा कि आज ग्रहण का दिन है अत: वह एक दिन आश्रम में ही रुक जाए. युवती आश्रम में रुक गई. बाद में देर शाम बाबा ने युवती को अपने कमरे में बुलाया और उसके साथ कथित रूप से दुष्कर्म किया. बाबा ने पीड़िता को इस घटना की जानकारी किसी को देने पर बुरा अंजाम भुगतने की धमकी भी दी.

 

पुलिस अधिकारी अर्चना झा ने बताया कि पीड़िता इसी माह बिलासपुर लौटी तब उसने अपने परिजनों को घटना की जानकारी दी. परिजनों के साथ पीडिता ने इस महीने की 11 तारीख को फलाहारी बाबा के खिलाफ महिला थाने में मामला दर्ज कराया.उन्होंने बताया कि पुलिस ने जीरो प्राथमिकी दर्ज कर ली है. पुलिस ने मजिस्ट्रेट के समक्ष धारा 164 के तहत पीड़िता का बयान दर्ज कराया है. बिलासपुर पुलिस ने केस डायरी अलवर पुलिस को भेज दी है. उधर, अलवर में अरावली थानाधिकारी हेमराज मीणा ने आज बताया कि फलाहारी बाबा से पूछताछ के लिए पुलिस के उनके आश्रम पहुंचने पर अलवर के एक निजी अस्पताल में उपचाराधीन होने की सूचना मिली.

 

पुलिस ने अस्पताल पहुंचकर महाराज का उपचार कर रहे चिकित्सक से बातचीत की है. चिकित्सक की मंजूरी मिलने के बाद आरोपी से पूछताछ की जाएगी. थानाधिकारी के अनुसार फलाहारी बाबा के अलवर में काफी इलाके में फैला आश्रम है. स्कूल, धर्मशाला संचालित है और देश विदेश में लाखों अनुयायी है. आरोपी अन्न की जगह केवल फलों का ही सेवन करने की वजह से फलाहारी बाबा के नाम से पहचाना जाता है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.