केंद्रीय मंत्री नकवी की बहन को किडनैप करने की कोशिश

बरेली, केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की छोटी बहन फरहत नकवी का अपहरण करने की नाकाम कोशिश की गई है. यह घटना उस वक्त हुई, जब फरहत नकवी एसएसपी ऑफिस से लौट रही थीं. घटनास्थल से एसएसपी दफ्तर से करीब एक किलोमीटर से भी कम दूर था.

फरहत ने आरोप लगाते हुए कहा कि शनिवार को कुछ युवकों ने बरेली शहर के चौकी चौराहा इलाके में दिनदहाड़े किडनैप करने की कोशिश की. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक फरहत नकवी ने कहा कि तीन तलाक के खिलाफ मुहिम चलाने की वजह से उनके साथ ऐसा करने की कोशिश हुई. उन्होंने कहा कि कार सवार बदमाशों ने काफी दूर तक पीछा किया, गाली गलौज की और फिर जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गए.

फरहत नकवी ने मामले की शिकायत एसएसपी से की है और अब पुलिस मामले की छानबीन कर रही है. फरहत नकवी यहां अपने पैतृक आवास पर रहती हैं और एक सोशल ग्रुप का संचालन करती हैं, जो तलाकशुदा महिलाओं को मदद करता है. वह इससे जुड़े काम के सिलसिले में ही पुलिस अधीक्षक के ऑफिस गई थीं. अपहरण की कोशिश का मामला मानते हुए पुलिस ने इसकी जांच तेज कर दी है.

फरहत का कहना है कि पहले भी उन्हें इस तरह की धमकी मिल चुकी है. शायद कुछ लोग नहीं चाहते कि वह तीन तलाक पीड़ितों के उत्थान के लिए काम करें. पुलिस ने घटना स्थल के पास के चौकी की सीसीटीवी खंगाली, लेकिन उस वक्त लाइट नहीं आ रही थी, इसलिए वहां कोई रिकॉर्डिंग नहीं हो सकी. गौरतलब है कि बरेली का चौकी चौराहा शहर के व्यस्ततम इलाकों में से एक है. महिला पुलिस थाना भी चौराहे के नजदीक ही है और कमिश्नर का दफ्तर भी पास में हैं. फरहत ने कहा कि चौराहे के पास उनके नजदीक एक कार आकर रुकी, जिसमें बैठे एक युवक ने कहा, ‘मैं तुम्हें बाद में देख लूंगा.’ हालांकि, फरहत ने कहा कि वह कार में बैठे लोगों की पहचान नहीं कर सकीं और कार का रजिस्ट्रेशन नंबर भी याद नहीं है.