Ind vs Aus: पांड्या और धोनी का कमाल, टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 26 रन से पीटा

हार्दिक पंड्या और महेंद्र सिंह धोनी के अर्धशतक के बाद गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन से भारत ने वर्षा से प्रभावित पहले वनडे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में रविवार को चेन्नई के स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया को डकवर्थ लुईस पद्धति के आधार पर 26 रन से हराकर पांच मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बनाई.

भारत के 21 ओवर में 164 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम युजवेंद्र चहल (30 रन पर तीन विकेट), हार्दिक पंड्या (28 रन पर दो विकेट) और कुलदीप यादव (33 रन पर दो विकेट) की प्रभावी गेंदबाजी के सामने नौ विकेट पर 137 रन ही बना सकी. जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार ने भी क्रमश: 20 और 25 रन देकर एक-एक विकेट चटकाया.

ऑस्ट्रेलिया ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए और टीम कभी लक्ष्य हासिल करने की स्थिति में नहीं दिखी. टीम की ओर से ग्लेन मैक्सवेल (39), जेम्स फाकनर (नाबाद 32) और सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर (25) ही दोहरे अंक तक पहुंच पाए.

इससे पहले भारत ने 87 रन रन पांच विकेट गंवा दिए थे जिसके बाद पंड्या ने अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेलते हुए 66 गेंद में पांच छक्कों और पांच चौकों की मदद से 83 रन बनाने के अलावा धोनी (79) के साथ छठे विकेट के लिए 118 रन की तूफानी साझेदारी भी की जिससे टीम सात विकेट पर 281 रन का मजबूत स्कोर खड़ा करने में सफल रही. धोनी ने 88 गेंद का सामना करते हुए चार चौके और दो छक्के जड़े.

धोनी ने भुवनेश्वर (30 गेंद में नाबाद 32, पांच चौके) के साथ सातवें विकेट के लिए 72 रन की साझेदारी भी की. भारतीय टीम अंतिम 14 ओवर में 133 रन जोड़कर चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचने में सफल रही.

भारतीय पारी खत्म होने के बाद हालांकि बारिश आ गई और ऑस्ट्रेलियाई पारी की शुरुआत में लगभग ढाई घंटे का विलंब हुआ जिसके बाद मेहमान टीम को 21 ओवर में 164 रन का लक्ष्य मिला.

धोनी इस पारी के दौरान क्रिकेट के इतिहास में अंतरराष्ट्रीय अर्धशतकों का शतक पूरा करने वाले 13वें क्रिकेटर भी बने. वह यह उपलब्धि हासिल करने वाले चौथे भारतीय बल्लेबाज हैं. उनसे पहले सचिन तेंदुलकर (164), राहुल द्रविड़ (146) और सौरव गांगुली (107) यह उपलब्धि हासिल कर चुके हैं.

धोनी का 302वें वनडे अंतरराष्ट्रीय मैच में यह 66वां अर्धशतक है. इसके अलावा उन्होंने 90 टेस्ट में 33 और 78 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में एक अर्धशतक जड़ा है.

लक्ष्य का पीछा करने उतरे ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत खराब रही. वार्नर ने बुमराह और भुवनेश्वर पर चौके जड़े. पदार्पण कर रहे हिल्टन कार्टराइट (01) हालांकि बुमराह की सीधी गेंद को चूककर बोल्ड हो गए. ऑस्ट्रेलियाई टीम पावरप्ले के चार ओवर में एक विकेट पर 15 रन ही बना सकी. अगले ओवर में पंड्या ने विरोधी कप्तान स्टीव स्मिथ (01) को शार्ट फाइन लेग पर बुमराह के हाथों कैच कराया.

पंड्या के अगले ओवर में ट्रेविस हेड (05) भी धोनी को कैच दे बैठे. बायें हाथ के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप ने इसके बाद वार्नर को धोनी के हाथों कैच कराके ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 35 रन पर चार विकेट किया.

मैक्सवेल ने इसके बाद मोर्चा संभाला. उन्होंने पंड्या पर लगातार दो चौके जड़ने के बाद कुलदीप की लगातार गेंदों पर चौका और तीन छक्के मारे. उन्होंने युजवेंद्र पर भी छक्का जड़ा लेकिन अगली गेंद पर लांग आन पर मनीष पांडे को कैच दे बैठे. उन्होंने 18 गेंद का सामना करते हुए तीन चौके और चार छक्के मारे.

मार्कस स्टोइनिस भी 10 गेंद में तीन रन बनाने के बाद कुलदीप की गेंद पर स्थानापन्न खिलाड़ी रविंद्र जडेजा को कैच दे बैठे.

ऑस्ट्रेलिया को अंतिम सात ओवर जीत के लिए 80 रन की दरकार थी. चहल ने इस बीच अपनी ही गेंद पर फाकनर और मैथ्यू वेड के कैच टपकाए. चहले ने हालांकि वेड (09) को धोनी के हाथों स्टंप करा दिया. ऑस्ट्रेलिया के 100 रन 17वें ओवर में पूरे हुए. चहल ने इसके बाद पैट कमिंस (09) को बुमराह के हाथों कैच कराके ऑस्ट्रेलिया को आठवां झटका दिया.

ऑस्ट्रेलिया को अंतिम तीन ओवर में 46 रन की दरकार थी लेकिन फाकनर की मौजूद के बावजूद टीम इसके करीब भी नहीं पहुंच सकी.

इससे पहले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टास जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया लेकिन तेज गेंदबाज कोल्टर नाइल ने उनके इस फैसले को गलत साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी. इंडियन प्रीमियर लीग के पिछले सत्र में कोलकाता नाइट राइडर्स की ओर से बेहतरीन गेंदबाजी करने वाले कोल्टर नाइल ने अपने दूसरे और पारी के चौथे ओवर में अजिंक्य रहाणे (05) को विकेटकीपर मैथ्यू वेड के हाथों कैच कराया.

कोल्टर नाइल ने अगले ओवर में कोहली (00) और मनीष पांडे (00) को भी पवेलियन भेजकर भारत का स्कोर 11 रन पर तीन विकेट किया. कोहली ने आफ साइड से बाहर की गेंद पर जोरदार शाट लगाया लेकिन बैकवर्ड प्वाइंट पर खड़े ग्लेन मैक्सवेल ने गोता लगाते हुए एक हाथ से उनका शानदार कैच लपका. एक गेंद बाद पांडे भी आफ साइड से बाहर की गेंद से छेड़छाड़ की कोशिश में विकेट के पीछे कैच दे बैठे. सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (28) और केदार जाधव (40) ने चौथे विकेट के लिए 53 रन जोड़कर पारी को संवारने की कोशिश की. जाधव ने कोल्टर नाइल की पहली ही गेंद पर चौका जड़ा और फिर पैट कमिंस की गेंद को भी बाउंड्री के दर्शन कराए. रोहित ने जेम्स फाकनर के पारी के नौवें ओवर में और अपनी 20वीं गेंद पर पहला चौका जड़ा. दोनों ने 13वें ओवर में टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया.

रोहित हालांकि स्टोइनिस की शार्ट गेंद को पुल करने की कोशिश में हवा में लहरा गए और डीप स्क्वायर लेग पर कोल्टर नाइल ने आसान कैच लपका. उन्होंने 44 गेंद की अपनी पारी में तीन चौके मारे.

जाधव भी इसके बाद स्टोइनिस की शार्ट गेंद पर हिल्टन कार्टराइट को आसान कैच दे बैठे जिससे टीम का स्कोर 87 रन पर पांच विकेट हो गया. इससे पिछली गेंद पर ही धोनी रन आउट होने से बचे थे क्योंकि क्षेत्ररक्षक बल्लेबाजी छोर पर सीधा निशाना नहीं लगा पाया. जाधव ने 54 गेंद का सामना करते हुए पांच चौके जड़े.

धोनी और पंड्या ने इसके बाद पारी को संभाला. दोनों ने शुरुआत में स्ट्राइक रोटेट करने को तरजीह दी. पंड्या ने स्टोइनिस पर चौके के साथ 24वें ओवर में भारत के रनों का शतक पूरा किया.

पंड्या ने पारी के 37वें ओवर में लेग स्पिनर एडम जंपा को निशाना बनाया और उनकी लगातार गेंदों पर चौके और तीन छक्कों के साथ 24 रन बटोरे और इस दौरान 48 गेंद में अर्धशतक पूरा किया.

पंड्या ने जंपा पर छक्के के साथ 41वें ओवर में भारत के 200 रन पूरे किए. वह हालांकि जंपा के इसी ओवर में एक और बड़ा शाट खेलने की कोशिश में शार्ट थर्ड मैन पर फाकनर को आसान कैच दे बैठे.

भारत को चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचाने की जिम्मेदारी अब धोनी के कंधों पर थी. उन्होंने 44वें ओवर में अपनी 67वीं गेंद पर कोल्टर नाइल पर पारी का अपना पहला चौका जड़ा. उन्होंने कमिंस की गेंद पर एक रन के साथ 75 गेंद में अपना 66वां अर्धशतक पूरा किया.

धोनी ने 48वें ओवर में फाकनर पर दो चौके और एक छक्के के साथ टीम का स्कोर 250 रन के पार पहुंचाया. उन्होंने फाकनर के पारी के अंतिम ओवर में भी चौका और छक्का जड़ा लेकिन इसके बाद लांग आफ पर डेविड वार्नर को कैच दे बैठे.

ऑस्ट्रेलिया की तरफ से कोल्टर नाइल सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 44 रन देकर तीन विकेट चटकाए. स्टोइनिस ने 54 रन देकर दो जबकि लेग स्पिनर एडम जंपा और फाकनर ने एक-एक विकेट हासिल किया.