अच्छा प्रदर्शन न होने पर मोदी सरकार ने आइपीएस अफसर को सेवा से हटाया

नरेंद्र मोदी सरकार ने संतोषजनक काम नहीं कर पाने के कारण डीआइजी रैंक के आइपीएस अधिकारी लिंगला विजय प्रसाद को बर्खास्त कर दिया है. गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि 1997 बैच के अरुणाचल प्रदेश-गोवा-मिजोरम और केंद्र शासित प्रदेश आइपीएस कैडर के अधिकारी एल विजय प्रसाद को ‘असंतोषजनक’ सेवा रिकॉर्ड के कारण नौकरी से निकाल दिया गया है.

भारतीय पुलिस सेवा (आइपीएस) में नौकरी के 15 साल होने पर उनके कार्य प्रदर्शन की समीक्षा की गई थी. इसमें वह नौकरी पर बनाए रखने के लिए अयोग्य पाए गए.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली कैबिनेट की नियुक्ति मामलों की समिति की मंजूरी के बाद गृह मंत्रालय ने बुधवार को उनकी बर्खास्तगी का आदेश जारी किया.

नाम न छापने की शर्त पर अधिकारी ने बताया कि गैर उपयोगी व्यक्तियों की छंटाई के लिए आइपीएस अधिकारियों के प्रदर्शन की समीक्षा की जाती है. नियमानुसार, अखिल भारतीय सेवा के अधिकारियों के प्रदर्शन की समीक्षा उनके सेवाकाल में दो बार होती है. पहली बार नौकरी के 15 साल और दूसरी बार 25 वर्ष पूरे होने पर.