पिथौरागढ़ : जानें क्यों एसबीआई के 180 खाता धारकों ने किया खाता बंद करने का फैसला लिया

पिथौरागढ़, एसबीआई गंगोलीहाट के अधिकारियों और कर्मचारियों के व्यवहार से बैंक के खाता धारक आहत हैं. जिसके कारण यहां आने वाले लोगों को परेशानिया को सामना करना पड़ता है. खाता धारकों ने मामले में कार्रवाई नहीं होने पर बैंक के खिलाफ आंदोलन की चेतावनी दी है.

एसबीआई गंगोलीहाट के खाता धारकों ने बैंक कर्मियों पर ग्राहकों के साथ सहयोग नहीं करने का आरोप लगाया है. खाता धारक रवींद्र खाती और संजय रावत ने बैंक कर्मियों पर दुरव्यवहार की शिकायत एसबीआई के रिजनल मैनेजर महेश सिंह रावत को फोन पर दी. इसके साथ ही हेड पोस्ट ऑफिस मुंबई में भी शिकायत की. ग्राहकों ने कहा कि बैंक के नियमानुसार खातों का लेन-देन एटीएम से करना अनिवार्य है. लेकिन खाता धारकों के एटीएम पिन जनरेट नहीं हो पा रहे है.

उन्होंने कहा कि क्षेत्र में एटीएम पिछले 5 माह से बंद पड़ा है. खाता धारकों को बैंक कर्मियों से जब एटीएम के बारे में जानकारी मांगें जाने पर स्पष्ट जवाब भी नहीं मिलता है. जिसके कारण उनके एटीएम पिन जनरेट किए बिना बंद हो जाते हैं और खाता धारकों को आए दिन परेशानियों का सामना करना पड़ता है. वहीं 180 खाता धारक बैंक कर्मियों से परेशान होकर खाता बंद करने का मन बना चुके हैं. इस मौके पर आरपी साह, हरीश जोशी, हरीश मेहरा, राम सिंह, रमेश राम, नरेश राम, दयाल जोशी, भगवान सिंह बिष्ट, पुष्कर जरमाल, शंकर सिंह खाती, जगदीश खाती, मनोज खाती और अर्जुन सिंह समेत कई लोग मौजूद रहे.