एक और अधिकारी निकली भ्रष्ट, लोकायुक्त ने मारे छापे

इंदौर, प्रशासन के लाख कोशिशों के बाद भी भ्रष्टाचार थमने का मान नहीं ले रहा है. अब लोकायुक्त पुलिस ने नगर और ग्राम निवेश विभाग की एक महिला आला अधिकारी के ठिकानों पर मंगलवार को छापे मारे और बड़े पैमाने पर उसकी बेहिसाब संपत्ति का खुलासा किया.

लोकायुक्त पुलिस के एक उपाधीक्षक (डीएसपी) ने बताया कि नजदीकी देवास जिले में नगर और ग्राम निवेश विभाग में पदस्थ उप निदेशक अनीता कुरोठे के खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायत मिली थी. इस शिकायत पर इंदौर में उनके तीन ठिकानों पर छापे मारे गये. वह इंदौर में भी पदस्थ रह चुकी हैं.

उन्होंने बताया कि लोकायुक्त पुलिस के छापों से पता चला है कि कुरोठे और उनके नजदीकी रिश्तेदारों के नाम से खरीदी गयी अनुपातहीन संपत्ति इंदौर की बहुमंजिला आवासीय इमारत में एक पेन्ट हाउस, 3,500 वर्ग फुट में फैला फार्म हाउस, शहर के अलग-अलग इलाकों में आठ दुकानें और सात एकड़​ कृषि भूमि शामिल है. उनके घर से करीब डेढ़ लाख रुपये की नकदी और सोने के कुछ जेवरात भी मिले हैं.

डीएसपी ने बताया कि इंदौर से सटे राऊ कस्बे के एक ​होटल में कुरोठे की कारोबारी भागीदारी के संकेत मिले हैं. इसके अलावा, उनके 20 से 25 बैंक खातों के बारे में भी जानकारी मिली है. उन्होंने बताया कि कुरोठे वर्ष 1994 में सरकारी सेवा में शामिल हुई थीं. लोकायुक्त पुलिस के छापों में उनकी​ जिस बेहिसाब सम्पत्ति का खुलासा हुआ है, वह उनकी वैध आय के मुकाबले बहुत अधिक है. उनकी बेहिसाब संपत्ति का विस्तृत मूल्यांकन किया जा रहा है. मामले में विस्तृत जांच जारी है.