उत्तराखंड में अब सुधरेंगी स्वास्थ्य सेवाएं, पहाड़ी क्षेत्रों के लिए भर्ती होंगे 200 डॉक्टरों

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद सिंह रावत ने रविवार को कहा कि उनकी सरकार राज्य में स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए डॉक्टरों की नियुक्ति को प्राथमिकता दे रही है और इसके तहत 200 नए डॉक्टरों की भर्ती की जा रही है.

नई टिहरी जिला मुख्यालय में आयोजित जनता मिलन कार्यक्रम में उपस्थित जनता को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे राज्य में 200 नए डॉक्टरों की भर्ती करने के अलावा सेना से राज्य को 70 डॉक्टर उपलब्ध हो रहे हैं और दक्षिण भारत से भी डॉक्टरों ने उत्तराखंड आने की इच्छा जाहिर की है.

अस्थायी राजधानी देहरादून में रविवार को जारी एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार, रावत ने बताया कि सरकार प्रत्येक जिला चिकित्सालय में आईसीयू की स्थापना भी करने जा रही है.

उन्होंने कहा कि नई टिहरी जिला चिकित्सालय में सात नए सर्जन तैनात किए गए हैं, जिससे यहां की ओपीडी में मरीजों की संख्या में 800-900 तक की वृद्धि हुई है.

मुख्यमंत्री ने कहा की प्रधानमंत्री द्वारा 2022 तक हर किसान की आय दोगुनी करने के लक्ष्य के तहत सरकार कृषि उद्यान और जड़ी बूटी के लिए कलस्टर स्तर पर योजना बना रही हैं तथा स्वैच्छिक चकबन्दी के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने स्वयं उनके गांव और कृषि मंत्री के गांव से स्वैच्छिक चकबन्दी की शुरुआत करने का निर्णय लिया गया है.

उन्होंने कहा कि स्वैच्छिक चकबन्दी को ध्यान में रखते हुए पूरे उत्तराखंड में एक हजार पटवारियों की भर्ती की जा रही है. मुख्यमंत्री ने टिहरी भ्रमण के दौरान जिले के विभिन्न क्षेत्रों से आए 350 से अधिक लोगों की शिकायतें सुनीं और जिलाधिकारी तथा अन्य अधिकारियों को उनके निस्तारण के आदेश दिए.