राम रहीम की बिगड़ी तबीयत, जेल पहुंची डॉक्टरों की टीम

रोहतक, डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख बाबा गुरमीत राम रहीम को यौन शोषण के दो अलग-अगल मामले में 20 साल की सजा सुनाई गई है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बलात्कारी बाबा राम रहीम की जेल के अंदर तबीयत बिगड़ गई है. तबीयत बिगड़ने की जानकारी मिलने के बाद उनकी जांच के लिए रोहतक पीजीआई से डॉक्टरों सहित 5 सदस्यों का दल सुनारिया जेल पहुंचा चुका है. राम रहीम की शिकायत के बाद जेल प्रशासन ने रोहतक पीजीआई से डॉक्टरों की टीम बुलाई.

टीम इस बात की जांच करेगी कि राम रहीम को अस्पताल शिफ्ट करने की जरूरत है या नहीं, ऐसे में आशंका है कि ज्यादा तबीयत खराब हुई तो राम रहीम को इलाज के लिए पीजीआई लाया जा सकता है. रोहतक पीजीआई में अर्धसैनिक बल सहित भारी संख्या में पुलिसबल तैनात होने की वजह से इस बात की काफी संभावना है. मीडिया की खबरों के अनुसार, राम रहीम की तबीयत शनिवार शाम से ही खराब होने लगी थी. कहा जा रहा है कि उन्हें शाम से ही पीजीआई लाए जाने की तैयारी की जा रही थी. वहीं स्थानीय सूत्रों के अनुसार बाबा राम रहीम के लिए वार्ड और कमरा आरक्षित कर दिया गया था.

बाबा के लिए पीजीआई के वार्ड 24 में रूम नंबर 105 बुक किया गया है. इसके मद्देजनर पीजीआई में कड़ी सुरक्षा की गई है. बता दें कि बाबा को शुरूआत से ही जेल का खाना पसंद नहीं आ रहा है. बार-बार कहने पर भी बाबा बहुत कम रोटी खा रहा है. कोर्ट की ओर से सजा सुनाये जाने के बाद उसने जेल जाने से बचने के लिए सेहत का भी हवाला दिया था कि तबीयत ठीक नहीं रहती है, इसके साथ नरमी बरती जाये. हालांकि, मेडिकल टेस्ट में डॉक्टरों ने उन्हें जेल जाने के लिए पास कर दिया था.