रोजगार परक योजनायें बनायें अधिकारी : सीएम रावत

नई टिहरी, जनपद के काश्तकारों की अर्थिकी बढाने के लिए योजनायें बनायी जाए इस आशय के आदेश प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने जिला कार्यालय सभागार में आयोजित जिला स्तरीय समीक्षा बैठक के दौरान दिये. उन्होने कहा कि पहाड़ से पलायन रोकने के लिए स्वास्थ्य, शिक्षा, और रोजगार की दिशा में सरकार निरंतर प्रयासरत है. यहां पर काश्तकारों को उप्पादित फसलों का सही मुल्य मिले इसके लिए अधिकारियों क्लस्टर के आधार पर योजनायें बनायें और उन्हे धरातल पर उतारें. उन्होने जिलाधिकारी को निर्देश दिये कि जनपद में स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए ऐलोपैथिक, आयुर्वेदिक और हौम्योपैथिक चिकित्साधिकारियों की संयुक्त बैठक कर स्वास्थ्य सुविधाओं से वंचित क्षेत्रों में उपलब्ध चिकित्सकों एवं संसाधनों के अनुसार व्यवस्था सुनिश्चित करें.

जिला कार्यालय सभागार में अयोजित समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने पर्यटन के नये क्षेत्रों की तलाश ग्रामीण पर्यटन को प्रोत्साहन देने की दिशा में कार्य करने के लिए पर्यटन विभाग को निर्देश दिये वही उन्होने जीएनबीएन के ऐसे गेस्ट हाऊस जो बहुत कम चलते हों उनका उपयोग पर्यटकों के लिए किया जाय. इसके अलावा जो लोग अपने घरों से बाहर रहते है या पलायन कर गये है उनकों घर वापसी के लिए स्थानीय संस्कृति को प्रोत्साहन देने के लिए योजना बनाने के भी निर्देश दिये. उन्होने विकासखण्ड चम्बा के सौड गांव को जो पलायन से खाली हो गया था उसे जिस प्रकार से पर्यटकों के बीच में इण्टरनेट के माध्यम से प्रस्तुत किया गया उसी प्रकार ग्रामीण पर्यटन को प्रोत्साहन देने के लिए उत्तराखण्ड की संस्कृति से निर्मित भवनो में आधुनिक सुविधायें उपलब्ध करायी जाय, साथ ही पर्वतारोहण के लिए पंवालीकांटा, सहस्त्रताल सहित ऐसे क्षेत्र जो अभी तक पर्यटन के नख्शे पर नही आ पाये है उन्हे भी सहसिक पर्यटकों के लिए सोशल मिडीया व इण्टरनेट के माध्यम से प्रचारितप्रसारित किया जाय.

मुख्यमंत्री ने ग्रामीण क्षेत्रों में उपलब्ध कराये जाने वाले खाद्यान की गुणवत्ता व समय से उपलब्ध कराये जाने की दिशा में कार्य करने हेतु जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिये है. मुख्यमंत्री ने कहा कि राश्ट्रीय खाद्यान योजना के अन्तर्गत दी जाने वाली सब्सडी नवम्बर से सीधे लाभार्थी के खाते में डाली जायेगी तबतक सभी राशन कार्ड धारकों को आधार लिंक के साथ ही उनके बैंक खातों से जोडने का कार्य पूरा करने के निर्देश दिये है. मुख्यमंत्री ने लोनिवि के अधिकारियों को आपदा से क्षतिग्रस्त सड़कों को प्राथमिकता के आधार पर दुरुस्थ करने तथा जो धनराशि अवमुक्त की गई है उसका भी समय से उपयोग करने के निर्देश दिये है. उन्होने सकलाना क्षेत्र के हटवाल गॉव में 2013 की आपदा के दौरन क्षतिग्रस्त झूला पुल को प्राथमिकता के आधार पर पूरा करने के निर्देश दिये ताकि क्षेत्र के लोगों को आवागमन के किसी भी प्रकार की असुविधा न हो. समीक्षा के दौरान शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि प्राथमिक विद्यालयों में 10 से कम छात्र संख्या वाले 334 विद्यालय बताये गये है तथा 447 अध्यापकों की कमी मुख्यमंत्री के सम्मुख रखी गई. वही माध्यमिक शिक्षा के अन्तर्गत जनपद में 434 विद्यालयों में 2287 पदों के सापेक्ष 1853 पद भरें हुए है जबकि 553 विभिन्न विशयों प्रवक्ताओं के रिक्त बतायें गये है. समाज कल्याण विभाग के द्वारा पेंशन पात्र व्यक्तियों को समय से मिले इसके लिए बैंक खातों को आधार से लिंक करने के लिए कैम्प लगवाने के भी निर्देश दिये. जंगली जानवरों से फसलों की रक्षा के लिए परीक्षण के तौर पर मुख्यमंत्री ने आसामी मिर्च जौलकिया के उत्पादन करने को प्रथमिकता देने के निर्देश दिये है.

उन्होने कहा कि इसकी खुशबु से जंगली जानवर फसलों को क्षति नही पंहचायेंगे साथ ही मशरुम व व्यवसायिक खेती के लिए भी क्लस्टर बनाने के निर्देश सम्बन्धित विभागों को दिये. वही दुग्ध संघ में उत्पादकता बढाने के लिए पंवाली कांठा के लिए बनाये गये रोपवे का उपयोग कर गुज्जरों द्वारा उत्पादित दुध को संघ के माध्यम से सग्रहण करने की दिशा में कार्य करें, उन्होने मौके पर ही सहायक निदेशक दुग्ध को पंवाली कांठा क्षेत्र का भ्रमण कर वस्तुस्थित जानने के निर्देश दिये. इसके अलवा मत्स्य पालन, सिचांई, पशुपालन, सहकारिता, रेशम, खेलकुद, युवाकल्याण, वन विभाग सहित अन्य विभागों की समीक्षा की. इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण, विधायक टिहरी धन सिंह नेगी, घनसाली शक्ति लाल शाह, भाजपा जिलाध्यक्ष संजय नेगी, जिलाधिकारी सोनिका, वरिश्ठ पुलिस अधीक्षक बिमला गुंजियाल, सीडीओ आशीश भटगाई के अलाव क्षेत्र प्रमुख जाखणीधार बेबी असवाल, जिला पंचायत सदस्य रागिनी भटट, पूर्व अध्यक्ष जिला सहकारी बैंक घनश्याम नौटियाल, अनुसुया प्रसाद नौटियाल सहित जिला स्तरीय अधिकारी भी उपस्थित थे.