मनी लांड्रिंग : 19 कंपनियों के खिलाफ सीबीआई ने दर्ज किया मामला

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने काले धन के लेनदेन के मामले में 19 कंपनियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. इन कंपनियों ने करीब 700 लेनदेन के जरिये विदेशों में 424 करोड़ रुपये भेजे हैं.

जांच एजेंसी इस मामले को मुखौटा कंपनियों के जरिये मनी लांड्रिंग किए जाने का मान रही है. आरोप है कि 2015 में पंजाब नेशनल बैंक की मिंट स्ट्रीट शाखा, चेन्नई के अज्ञात अधिकारियों ने 19 आरोपी कंपनियों के साथ साजिश रची. इन कंपनियों का इस बैंक शाखा में खाता था. इस संबंध में शुक्रवार शाम को दर्ज की गई एफआइआर के मुताबिक, साजिश के तहत यह कंपनियां बिना किसी वाजिब व्यापारिक लेनदेन के हांगकांग में विदेशी मुद्रा भेज रही थीं. इन खातों का इस्तेमाल विदेशों में अग्रिम भुगतान के लिए किया जाता था. रिपोर्ट में कहा गया है कि आरटीजीएस के जरिये होने वाले इन लेनदेन में राशि को हमेशा एक लाख डॉलर (करीब 64 लाख रुपये) की सीमा से कम ही रखा जाता था.

ऐसा होने से राशि हमेशा नियामकीय शर्तो के अनुरूप रहती थी और लेन-देन जांच एजेंसियों के रडार पर आने से बच जाता था. सीबीआई ने कहा कि जनवरी 2015 से मई 2015 के बीच विभिन्न चालू खातों से आयात के लिये अग्रिम भुगतान के नाम पर 700 लेनदेन के जरिये कुल 424.58 करोड़ रुपये की राशि भेजी गई. बैंक ने अपनी जांच में पाया था कि दिए गए पतों पर कोई कंपनी कार्यरत नहीं थी. अब सीबीआई इस मामले का पता लगाएगी.