गांधीनगर में होगी जापानी पीएम की मेहमान नवाजी

जापान के पीएम शिंजो आबे 14 सितंबर को भारत दौरे पर आ रहे हैं. पीएम मोदी दिल्ली के बजाए गांधीनगर में जापानी पीएम का स्वागत करेंगे और वहीं द्विपक्षीय वार्ता भी होगी. यह दूसरा मौका होगा जब पीएम मोदी एक अतिथि नेता की मेजबानी गांधीनगर में करेंगे. इससे पहले सितंबर 2014 में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ उनकी मुलाकात गांधीनगर में हुई थी.

खबर के मुताबिक मोदी और आबे गांधीनगर में वार्ता करेंगे और महत्वाकांक्षी मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल परियोजना के लिए भूमि पूजन में भाग लेंगे, जिसे आमतौर पर बुलेट ट्रेन परियोजना के रूप में जाना जाता है. अनुमान है कि इस रेल परियोजना पर 98 हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे. यह पूरा समारोह शहर में साबरमती रेलवे स्टेशन के पास आयोजित किया जाएगा.

तीन साल पहले, जब शी चिनफिंग के साथ पीएम मोदी ने साबरमती नदी के तट पर मुलाकात की थी, तब चुमार में गतिरोध चल रहा था. इस बार, डोकलाम में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुए विवाद के लगभग तीन हफ्ते बाद शिंजो अबे देश का दौरा करने वाले पहले विदेशी नेता हैं.

जापान ही एकमात्र प्रमुख देश था, जिसने डोकलाम विवाद के दौरान डिप्‍लोमैटिक चैनलों के जरिए भारत और भूटान को अपना स्पष्ट समर्थन दिया था. तब भारत में जापान के राजदूत ने कहा था, ‘हम समझते हैं कि डोकलाम क्षेत्र में गतिरोध लगभग दो महीने तक चल रहा है. हमारा मानना है कि इससे पूरे क्षेत्र की स्थिरता प्रभावित हो सकती है, ऐसे में हम इस पर करीबी नजर बनाए हुए हैं.