अमेरिका ने दिये उत्तर कोरिया के बुरे दिन आने के संकेत

वॉशिंगटन|…. उत्तर कोरिया द्वारा किए जा रहे लगातार मिसाइल परीक्षणों से अमेरीका और उत्तर कोरिया के बीच तनाव बढ़ता चला जा रहा है. गुआम द्वीप पर मिसाइल हमले की धमकी और हाईड्रोजन बम परीक्षण के चलते अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि अमरीका लंबे समय तक उत्तर कोरिया की मनमानी नहीं झेलेगा.

उत्तर कोरिया नहीं माना तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी. ट्रंप ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से भी टेलीफोन पर बात की. जिनपिंग के साथ 45 मिनट की वार्ता में ट्रंप ने उनसे उत्तर कोरिया को काबू करने के लिए हरसंभव प्रयास करने को कहा.ट्रंप ने कहा कि कोरियाई प्रायद्वीप की समस्या को बातचीत के जरिए सुलझाने के लिए वह अपने पूरे प्रभाव का इस्तेमाल करें. दोनों नेता उत्तर कोरिया को परमाणु हथियार विहीन करने के लिए कुछ और कदम उठाने पर सहमत थे.

उधर अमेरीकी वित्त मंत्री स्टीव म्नुचिन ने संकेत दिया है कि अमेरीका उन देशों पर प्रतिबंध की कार्रवाई करेगा जो उत्तर कोरिया के साथ कारोबार करते हैं. ऐसा तब होगा जब संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद उत्तर कोरिया पर और कड़े प्रतिबंध लगाने में असफल रहती है. म्नुचिन ने कहा कि अब अमरीका का उद्देश्य उत्तर कोरिया को आर्थिक रूप से अलग-थलग करना है.