सेना की तैयारी व मेक इन इंडिया मेरी प्राथमिकता : सीतारमण

गुरुवार को भारत की पहली पूर्णकालिक महिला रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने रक्षामंत्री का पदभार संभालने के बाद कहा कि उनकी प्राथमिकता सशस्त्र बलों की तैयारियों को मजबूत करना, सैनिकों की भलाई एवं स्वदेशी रक्षा सामग्रियों के निर्माण की होगी. सीतारमण का गुरुवार को साउथ ब्लॉक में पूर्व रक्षा मंत्री अरुण जेटली, रक्षा राज्य मंत्री सुभाष भामरे, रक्षा सचिव संजय मित्रा एवं अन्य अधिकारियों ने स्वागत किया.

उनके नए ऑफिस में पदग्रहण करने के समय दो पुजारी भी उपस्थित थे.उन्होंने कहा कि मेरी प्राथमिकता सशस्त्र बलों की तैयारी को मजबूत करने की होगी. यह महत्वपूर्ण है कि सशस्त्र बलों को जरूरी हथियार सामग्री उपलब्ध करायी जाए ताकि वे अपना कर्तव्य अच्छे से निभा सकें.सीतारमण ने कहा,”मैं रक्षा से जुड़े सभी पुराने मामलों को देखूंगी और इस संबंध में प्रधानमंत्री एवं सुरक्षा पर कैबिनेट समिति में चर्चा करूंगी और यह सुनिश्चित करने की कोशिश करूंगी कि ये मुद्दे जल्द से जल्द सुलझाए जाएं.”

सीतारमण ने कहा, “रक्षा उत्पादन में मेक इन इंडिया बहुत महत्वपूर्ण है. यह हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है.”उन्होंने कहा कि सैनिकों और उनके परिवारों का कल्याण करना उनकी पहली प्राथमिकता है. कठिन परिस्थितियों में काम करने वाले सैनिकों को लगना चाहिए कि उनके हितों की रक्षा की जा रही है. नई रक्षामंत्री ने आम्र्ड फोर्स फ्लैग डे फंड के अंतर्गत 8685 पूर्व सैनिकों, सैनिकों की विधवाओं एवं आश्रितों के लिए 13 करोड़ रुपये के फंड जारी किए.