सीबीआई ने लालू-तेजस्वी को भेजा समन

पूर्व रेल मंत्री और राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार की मुश्किलें कम होने का नाम नही ले रही हैं. सीबीआई ने आईआरसीटीसी के दो होटलों की देखभाल का ठेका एक निजी फर्म को सौंपने के दौरान हुए कथित भ्रष्टाचार के मामले में पूछताछ के लिए लालू प्रसाद यादव और उनके पुत्र तेजस्वी को समन किया है. एजेंसी के अधिकारियों ने कहा कि पूछताछ के लिए राजद प्रमुख को 11 सितंबर को जबकि तेजस्वी को 12 सितंबर को समन किया गया है.

आरोप है कि रेल मंत्री रहते हुए लालू ने रेलवे के दो होटलों बीएनआर रांची और बीएनआर पुरी के रखरखाव की जिम्मेदारी विनय और विजय कोचर के मालिकाना हक वाले सुजाता होटल को दी थी और इसके बदले में लालू ने एक बेनामी कंपनी के जरिए तीन एकड़ जमीन रिश्वत में ली थी.प्राथमिकी में आरोप लगाया गया है कि रेल मंत्री रहते हुए लालू ने कोचर को अवैध लाभ पहुंचाने के लिए अपने पद का दुरूपयोग किया और बेनामी कंपनी ‘डिलाइट’ के माध्यम से ‘‘कीमती जमीन’’ ली.

यह आरोप है कि लालू ने ‘‘बेइमानी और फर्जीवाड़ा’’ करके एक-दूसरे को लाभ पहुंचाने के एवज में दो होटलों बीएनआर रांची और बीएनआर पुरी के रखरखाव की जिम्मेदारी सुजाता होटल को दी थी. सीबीआई ने लालू यादव, उनकी पत्नी राबड़ी देवी, बेटे तेजस्वी और पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रेम चंद गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. प्राथमिकी में सुजाता होटल के दोनों निदेशक और चाणक्य होटल के मालिकों विजय कोचर और विनय कोचर, डिलाइट मार्केटिंग कंपनी (मौजूदा नाम, लारा प्रोजेक्ट्स) और तत्कालीन प्रबंध निदेशक पी. के. गोयल के नाम भी शामिल हैं.