ट्रंप के इस फैसले से खतरे में 7000 भारतीय की नौकरी

वाशिंगटन|….. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अवैध रूप से देश में दाखिल बच्चों को छूट देने संबंधी पूर्ववर्ती ओबामा प्रशासन के फैसले को पलट दिया है. इसमें ऐसे बच्चों को वर्क परमिट जारी करने की व्यवस्था थी, जो अवैध तौर पर वहां आ रहे थे. ट्रंप के इस फैसले से दुनिया भर के आठ लाख गैर पंजीकृत कामगारों के प्रभावित होने की आशंका है. इनमें से सात हजार भारतीय भी हैं.

अमेरिका के अटार्नी जनरल जेफ सेशन के मुताबिक ट्रंप ने ‘डिफर्ड एक्शन फॉर चिल्ड्रेन अराइवल’ (डीएसीए) नामक कार्यक्रम को खत्म करने का फैसला किया है. यह पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा द्वारा किया गया एक महत्वपूर्ण आव्रजन सुधार था.

सेशन ने कांग्रेस में अपना पक्ष रखते हुए कहा कि आव्रजन कानून का प्रारूप तैयार करने की जिम्मेदारी विधायिका का नहीं, बल्कि कार्यपालिका की है. उनके इस तर्क के आधार पर ट्रंप ने डीएसीए को समाप्त करने का फैसला लिया.सेशन का कहना है कि हम किसी पर प्रतिबंध नहीं लगा रहे बल्कि अपने देश के कानून को और ज्यादा मजबूत बना रहे है.