जंगली हाथी ने 25 साल से पालतू हाथी ‘राजा’ को मारा डाला

राजाजी टाइगर रिजर्व की चीला रेंज में जंगली हाथी ने एक पालतू हाथी ‘राजा’ पर हमला कर दिया. हमलें में राजा बुरी तरह से घायल हो गया. साथ ही उसे अंदरूनी चोटें भी आई. जिसके चलते राजा ने दम तोड़ दिया. दो डॉक्टरों के पैनल ने राजा के शव का पोस्टमार्टम किया.

जानकारी के अनुसार रिजर्व की चीला रेंज में शनिवार तड़के सुबह 3 बजे जंगल से भटककर एक जंगली हाथी पालतू हाथियों के बाड़े में पहुंच गया. यहां पहुंचते ही जंगली हाथी ने सबसे पहले टीनशेड को तोड़ दिया. इसके बाद उसने पालतू हाथी राजा के बाड़े में घुसकर उस पर हमला कर दिया.

राजा जंजीर से बंधा होने के कारण जंगली हाथी का मुकाबला नही कर सका। पास ही बंधी पालतू हथनी राधा और रंगीली ने जोर-जोर से चिंघाड़ना शुरू किया तो चीला रेंज के रेंजर अनिल कुमार पैन्यूली व वनकर्मी मौके पर पहुंचे और जंगली हाथी को जंगल में दौड़ा दिया. लेकिन तब तक राजा हाथी के हमले में घायल हो चुका था. इसके बाद राजा के सिर व शरीर पर कई जगह हुए जख्मों पर दवाई लगाई गई.

सुबह करीब पांच बजे राजा ने दम तोड़ दिया. इसकी जानकारी मिलते ही वाइल्ड लाइफ वार्डन अजय शर्मा डॉक्टर अदिति शर्मा व डॉक्टर प्रसून दुबे के साथ मौके पर पहुंचे. राजा के शव का दो डॉक्टरों के पैनल में पोस्टमार्टम किया.

रेंजर अनिल कुमार पैन्यूली ने बताया कि हमले में राजा को ज्यादा चोट नहीं आई थी. लेकिन उसको शायद अंदरूनी चोट आने के कारण हार्ट अटैक हुआ है. जिसके चलते उसकी मौत हुई है. राजा बेहद ही शांत स्वभाव का हाथी था. राजा की मौत की खबर मिलने के बाद राजाजी टाइगर रिजर्व के निदेशक सनातन सोनकर व अन्य अधिकारी भी चीला रेंज पहुंचे.