अनुपमा हत्याकांड : राजेश गुलाटी को आजीवन कारावास

अस्थायी राजधानी देहरादून का बहुचर्चित अनुपमा हत्या कांड में अदालत ने राजेश गुलाटी को गुरुवार को दोषी करार दे दिया गया था. शुक्रवार को अदालत ने आरोपी राजेश पर धारा 302 हत्या और 201 सबूत मिटाने के चलते दोषी करार दिया था और उसको आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई है.

अदालत के फैसले का अनुपमा के परिवार साथ ही पूरे देश को भी इंतजार था. सभी की निगाहें शुक्रवार (आज) कोर्ट के फैसले पर टिकी हुई थी. साल 2010 में एक ऐसी वारदात हुई, जिसने पूरे दून को ही नहीं बल्कि देश को भी हिला दिया था. सॉफ्टवेयर इंजीनियर राजेश ने बेरहमी से अपनी पत्नी अनुपमा की हत्या कर दी थी. जिसके बाद उसने घर में ही इलेक्ट्रिक आरी से शव के टुकड़े-टुकड़े कर दिए. इन्हें बड़े फ्रीजर में डाला और धीरे-धीरे कर शव के टुकड़ों को जंगल में फेंकता गया.

अनुपमा गुलाटी की हत्या 2010 में उसी के पति राजेश गुलाटी ने की थी. इस हत्याकांड का खुलासा 12 दिसंबर 2010 को हुआ था. राजेश ने अनुपमा की हत्या कर शव को 2 माह तक फ्रीजर में छुपाये रखा. इसके बाद स्टोन कटर, आरी और मशीन से शव के टुकड़े किये और मसूरी रोड पर ठिकाने लगाने की कोशिश की.

राजेश ने अनुपमा से 10 फरवरी 1999 को लव मैरिज की थी. दोनों के बीच 1992 से अफेयर चल रहा था. शादी के बाद वर्ष 2000 में राजेश, अनुपमा को लेकर यूएस चला गया. वहां जून 2006 में उन्हें जुड़वा बच्चे सिद्धार्थ और सोनाक्षी हुए. वर्ष 2008 में दोनों दिल्ली आ गए. इसके बाद राजेश परिवार समेत देहरादून आ गया.

जब 2 माह तक परिवार वालों का अनुपमा से कोई संपर्क नहीं हो पाया तब उसके भाई को कुछ शक हुआ. वह तुरंत अपनी बहन के घर पहुंचा लेकिन वहां कोई नहीं मिला. इस पर राजेश ने कहा कि अनुपमा तो लड़ाई कर कहीं चली गई. जिसके बाद सुजान प्रधान ने पुलिस को इसकी जानकारी दी.पुलिस के पास गए मामले में पहले तो पुलिस ने मासूम से दिखने वाले अनुपमा के पति को हल्के में लिया, लेकिन जब जांच में कुछ सबूत मिले तब जाकर पुलिस सीरियस हुई. पुलिस ने अनुपमा के पति से पूछताछ की तब जाकर सारा माजरा सामने आया. लेकिन तब भी राजेश ने पुलिस को कुछ हकीकत बताकर सभी बातों को झूठा बताया. राजेश ने बताया कि उसकी पत्नी के साथ 10 अक्टूबर को लड़ाई हुई थी. जिसके बाद वो अचानक घर से चली गई.

पुलिस ने घर की तलाशी ली तो आमतौर पर घर में ना मिलने वाला डीप फ्रिजर पुलिस को घर पर मिला. फिर पुलिस को कुछ शक हुआ. पुलिस ने जब उसको खोला तो सभी लोग हैरान रह गए. प्रेमी से पति बने राजेश ने अपनी पत्नी की ना केवल हत्या कर दी थी, बल्कि उसके शरीर के एक नहीं दो नहीं बल्कि 72 टुकड़े कर दिए थे. जिसके बाद पुलिस हैरान रह गई थी.