हल्द्वानी: सीएम के जनता दरबार में रहा अव्यवस्थाओं का बोलबाला

हल्द्वानी, गुरुवार को मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के भाजपा संभागीय कार्यालय में हुए जनता दरबार में अव्यवस्थाएं अधिक दिखी.दूर दराज से आये लोगों के लिए न तो बैठने की ही कोई व्यवस्था की गई थी और न ही पीने के पानी तक का कोई इंतजाम किया गया था. अधिकांश लोग खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार करते नजर आए.

श्याम विहार स्थित भाजपा कार्यालय में ठीक 11 बजे मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत पहुंचे. उनके पहुंचने तक भाजपा कार्यालयके बाहर लोगों की भीड़ जमा हो चुकी थी. तयशुदा कार्यक्रम के अनुरूप अलग अलग जनपदों से यहां पहुंचे लोगों ने मुख्यमंत्रीको अपनी समस्याओं से अवगत कराया, लेकिन जनसमस्याओं के निस्तारण के लिए आयोजित जनता दरबार स्वयं में लोगों केलिए परेशानी का सबब बनकर रह गया. आयोजकों द्वारा जनता दरबार के लिहाज से जगह तक का ध्यान नहीं रखा गया,क्योंकि जिस भाजपा कार्यालय में यह जनता दरबार आयोजित किया गया था वह स्थल किसी भी लिहाज से जनता दरबार के लिए उपयुक्त नहीं था, लेकिन आयोजकों ने इसे पूरी तरह नजरअंदाज कर दिया.वहीं मुख्यमंत्री को भी शायद इसे लेकर अंधेरे में रखा गया. कुल मिलाकर श्याम बिहार भाजपा संभागीय कार्यालय में आयोजित आज के जनता दरबार में अफरा तफरी का माहौल ज्यादा नजर आया.

अव्यवस्थाओं का आलम यह था कि कुमाऊं के दूर दराज क्षेत्रों से अपनी समस्याएं मुख्यमंत्री को बताने आये लोगों के बैठने का इंतजाम तो दूर की बात आयोजकों ने हलक तर करने तक के लिए पानी की दो बूंद तक की व्यवस्था आयोजन स्थल पर नहीं की थी. कुमाऊं के अलग अलग जनपदों से आये लोगो द्वारा इस उमस भरी गर्मी में भूखे प्यासे ही अपनी बारी का इंतजार करते दिखे.मुख्यमंत्री के जनता दरबार कार्यक्रम को देखते हुए जब पुलिस को वाहनों के पार्किंग के लिए कोई उपयुक्त स्थल नहीं मिला तो पुलिस प्रशासन ने मुखानी सड़क को ही पार्किंग स्थल बना डाला. सड़क पर वाहन पार्क होने से राहगीरों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा.