हल्द्वानी : मुख्यमंत्री ने सुनी जनता की फरियाद

कुमायू के प्रवेश द्वार हल्द्वानी महानगर के श्याम विहार में मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिह रावत ने जनता मिलन कार्यक्रम में सैकडों की तादाद में कुमायू भर से पहुचे फरियादियों की समस्यायें सुनी और उनसे दोतरफा संवाद स्थापित करते हुये अधिकांश समस्याओं का मौके पर ही निराकरण किया। सरकार जनता के द्वार की अवधारणा उस समय साकार हो उठी जब मुख्यमंत्री के जनता मिलन कार्यक्रम मे दूरदराज से आये लोगों के चहरों पर आशा व विश्वास की चमक देखी गई. लोगो को उम्मीद थी कि प्रदेश के मुखिया उनकी बात गम्भीरता से सुनेंगे और निश्चय ही उसका सकारात्मक समाधान भी करेंगे. लगभग तीन घन्टे चले जनता मिलन कार्यक्रम में 474 लोगों ने अपनी समस्यायें मुख्यमंत्री के सम्मुख प्रस्तुत की.

अपने सम्बोधन मे मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि सरकार द्वारा राजधानी में जनता मिलन कार्यक्रम आयोजित कर जन समस्याओं का निराकरण किया जाता था. सरकार ने अनुभव किया कि प्रदेश के दूरदराज से आने वाले लोगों का काफी समय व धन व्यय होता है. इस को ध्यान में रखते हुये राज्य सरकार ने कुमायू के प्रवेश द्वार हल्द्वानी में जनता मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया. उन्होने कहा कि विकास के साथ ही जनसमस्याओ का निराकरण हमारी प्राथमिकता है.हम जनप्रतिनिधियों के अनुभवों एव जन सहयोग से विकास करने के लिए तत्पर है. विकास के लिए सभी प्रकार के लोगो के सुझाव आमंत्रित है. उन्होने कहा कि जनसमस्याओं के निराकरण के लिए जनपद स्तर पर प्रभारी मंत्रीयो द्वारा भी जनता मिलन कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे, इसके साथ ही आयोजित होने वाले तहसील दिवसों मे भी प्रभारी मंत्री जनसमस्याये सुनकर उनका निराकरण करेंगें.

मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि विकास कार्यो का क्षेत्र में मुल्यांकन किये जाने के लिए जिलाधिकारी से लेकर अन्य स्तर के अधिकारियों को भी निरीक्षण करने के लिए ग्रामीण व शहरीय इलाकों मे भेजे जाने की कार्य योजना जल्द ही लागू की जा रही है. उन्होने कहा सबका साथ सबका विकास हमारी सरकार की कार्य करने की ऊर्जावान पद्यति है. उन्होने कहा कि लोग अपनी समस्यायें पता व फोन नम्बर के साथ मुख्यमंत्री समाधान पोर्टल पर भी दर्ज करा सकते है. अपने सम्बोधन में प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने कहा कि प्रदेश की सरकार जनता की सरकार है . संगठन के निवेदन पर मुख्यमंत्री ने स्वयं व प्रदेश के मंत्रीयो के कार्यक्रम तय किये हैं. जिसके तहत मुख्यमंत्री व मंत्रीगण जनता की समस्यायें सुनकर उनका समाधान कर रहे हैं. उन्होने कहा कि प्रदेश के समग्र विकास के लिए संगठन एवं सरकार एकजुट होकर कार्य कर रही है. हर प्रकार की जनसमस्या के निराकरण के लिए हमारे द्वार हमेशा खुले हुये है.

जनता दर्शन में बिन्दुखत्ता के शहीद स्व0 मोहन नाथ गोस्वामी की धर्मपत्नी भावना गोस्वामी ने मुख्यमंत्री से भेंट कर बिन्दुखत्ता में बन रहे मिनी स्टेडियम का नाम शहीद मोहन नाथ गोस्वामी रखे जाने का अनुरोध किया. जनता दर्शन कार्यक्रम में विधायक बंशीधर भगत, दीवान सिह विष्ट,नवीन दुम्का, राजकुमार ठुकराल, संजीव आर्य, पुष्कर धामी, रामसिह कैडा, मेयर डॉ.जोगेन्दर पाल सिह रौतेला,पूर्व सांसद बलराज पासी, जिलाध्यक्ष प्रदीप विष्ट, मनोज साह,पूर्व दर्जाधारी मजहर नईम नबाव, अनिल डब्बू सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे.