हिमाचल : दुष्कर्म आरोपी की हिरासत में मौत मामले में आईपीएस समेत 8 गिरफ्तार

शिमला, केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने मंगलवार को शिमला सामूहिक दुष्कर्म व हत्या मामले के आरोपी की हिरासत के दौरान हुई मौत को लेकर एक आईपीएस अधिकारी और सात अन्य पुलिस कर्मियों को गिरफ्तार किया. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. गिरफ्तार पुलिस कर्मियों में मामले की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) में शामिल रहे महानिरीक्षक जहूर एच. जैदी और उप अधीक्षक मनोज जोशी भी शामिल हैं.

सीबीआई के प्रवक्ता अभिषेक दयाल ने बताया, “हमने महानिरीक्षक जहूर एच. जैदी सहित आठ पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया है.”उन्होंने बताया कि इन पुलिस अधिकारियों की गिरफ्तारी आरोपी की हिरासत के दौरान हुई मौत को लेकर हुई है.पुलिस ने बताया कि 16 वर्षीय पीड़िता चार जुलाई को स्कूल से घर लौट रही थी, जब आरोपियों ने उसे अपनी कार में लिफ्ट दी थी. रास्ते में पीड़िता के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया और हत्या कर नजदीक के जंगल में फेंक दिया गया. दो दिन बाद लड़की का शव नग्न अवस्था में मिला था और उसके शरीर पर जख्म के ढेरों निशान थे.

मामले में मुख्य आरोपी रजिंदर सिंह के अलावा आशीष चौहान, सुभाष बिष्ट, दीपक कुमार, सूरज सिंह और लोकजन को गिरफ्तार किया गया था.मामले ने तब नया मोड़ ले लिया जब हिरासत में मुख्य आरोपी रजिंदर सिंह की सह-आरोपी सूरज सिंह ने 19 जुलाई को हत्या कर दी.सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आने के बाद हिमाचल प्रदेश में भारी जन विरोध हुआ था. पीड़िता के परिवार वालों ने आरोप लगाया कि ‘वास्तविक अपराधी’ को छोड़ दिया गया है, क्योंकि वे हाई-प्रोफाइल परिवार से ताल्लुक रखते हैं.बाद में राज्य सरकार की याचिका पर उच्च न्यायालय ने मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी.