तृणमूल मुसलमानों में और बीजेपी हिंदुओं में सांप्रदायिकता को हवा दे रही हैं : येचुरी

माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी पर सांप्रदायिक ध्रुवीकरण से राजनीतिक फायदा लेने के लिए ‘प्रतिस्पर्धी सांप्रदायिकता’ में शामिल होने का आरोप लगाया है.

येचुरी ने सोमवार को कोलकाता में एक कार्यक्रम में कहा, ‘बंगाल में, टीएमसी और बीजेपी प्रतिस्पर्धी सांप्रदायिकता में शामिल हैं. टीएमसी अल्पसंख्यकों के तुष्टीकरण की राजनीति कर रही है और बीजेपी बहुसंख्यक सांप्रदायिकता को हवा देने की कोशिश कर रही है.

उन्होंने कहा, ‘इस तरह से दोनों एक-दूसरे को बढ़ने में मदद कर रहे हैं. असल में दोनों पार्टियों ने एक दूसरे से हाथ मिलाया हुआ है, क्योंकि उनकी मुख्य शत्रु माकपा है और वे जानते हैं कि माकपा कभी भी राज्य में सांप्रदायिक राजनीति की इजाज़त नहीं देगी.’

टीएमसी और बीजेपी पर आपस में सांठगांठ करने का आरोप लगाते हुए येचुरी ने कहा, ‘उनके सांठगांठ का सबसे अहम सबूत नारद-शारदा जांच को धीमा करना है.’