चारधाम ऑल वेदर रोड के 10 प्रस्तावों को मिली मंजूरी, अगले साल काम पूरा करने का लक्ष्य

सरकार ने उत्तराखंड में सड़क संपर्क योजना चारधाम को 2018 समाप्त होने से पहले पूरा करने का लक्ष्य रखा है. केंद्रीय सड़क एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि इस महत्वाकांक्षी 12,000 करोड़ रुपये की परियोजना से संबंधित 10 प्रस्तावों को हरित मंजूरी मिल गई है.

मंत्री ने कहा कि पर्यावरणीय मंजूरी मिलने के बाद सड़क और राजमार्ग मंत्रालय ने परियोजना पर काम तेज कर दिया है. यह परियोजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के एजेंडा में शीर्ष पर है.

गडकरी ने कहा, ‘12,000 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली चारधाम परियोजना में 10 प्रस्तावों पर पर्यावरणीय मंजूरी मिल गई है. हमने इस पर काम तेज कर दिया है और यह परियोजना 2018 समाप्त होने से पहले पूरी हो जाएगी.’

उन्होंने कहा कि इस परियोजना से संबंधित अन्य प्रस्तावों को भी जल्द मंजूरी दे दी जाएगी. उन्होंने कहा कि इस महत्वाकांक्षी परियोजना से जुड़े अन्य प्रस्तावों को भी जल्द ही पारित कर दिया जाएगा क्योंकि पर्यावरण व वन मंत्रालय सहित विभिन्न मंत्रालयों में बैठकें चल रही हैं.

मंत्री ने कहा, ‘चार धाम की यात्रा आस्था से जुड़ा सवाल है और यह श्रद्धालुओं के लिए सबसे बड़ा उपहार होगा. विदेशों से भी बड़ी संख्या में लोग चारधाम यात्रा के लिए आते हैं.’ उन्होंने कहा कि इस परियोजना के तहत 900 किलोमीटर के राजमार्गों पर हर मौसम में यात्रा की जा सकेगी.

मंत्री ने इसी महीने बुनियादी ढांचे पर मंत्री समूह की एक बैठक की अध्यक्षता की और विभिन्न मंत्रालयों से अपील की कि चार धाम परियोजना से जुड़े 18 प्रस्तावों पर काम में तेजी लाई जाए.