बद्रीनाथ हाईवे आज खुलने की उम्मीद, जगह-जगह फंसे हैं करीब साढे पांच सौ तीर्थयात्री

बद्रीनाथ हाईवे लामबगड़ में शनिवार को दिनभर वाहनों की आवाजाही के लिए चालू नहीं हो पाया. बारिश लगी होने से लामबगड़ भूस्खलन क्षेत्र में चट्टान से दिनभर पत्थर और मलबा हाईवे पर छिटकता रहा. ज‌िसके चलते यात्रा मार्ग पर जगह-जगह 540 तीर्थीयात्री फंसे रहे.

जिससे हाईवे को सुचारु नहीं किया जा सका. हाईवे बाधित होने से पुलिस प्रशासन की ओर से 240 तीर्थयात्रियों को पांडुकेश्वर और जोशीमठ में ही रोका गया. वहीं बद्रीनाथ धाम में 300 तीर्थयात्रियों को रोका गया.

जबकि 60 तीर्थयात्री लामबगड़ के पैदल रास्ते से तीन किलोमीटर चलकर फिर वाहन से बद्रीनाथ धाम के दर्शनों को पहुंचे. बीते शुक्रवार को रात करीब दो बजे भारी बारिश के बाद लामबगड़ में हाईवे अवरुद्ध हो गया था.

​शनिवार को सुबह छह बजे मेकाफेरी कंपनी की मशीनों और मजदूरों की ओर से हाईवे को खोलने का काम शुरू किया. करीब नौ बजे वाहनों की आवाजाही के लिए हाईवे को खोला जा सका.

लेकिन इस दौरान भी बारिश होने से पुलिस प्रशासन की ओर से यहां वाहनों की आवाजाही नहीं कराई गई. सुबह साढ़े दस बजे चट्टान से भारी मात्रा में बोल्डर और मलबा हाईवे पर आ गया.

लगातार बारिश से हाईवे को खोलने का काम ही शुरू नहीं हो पाया. मेकाफेरी कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर शोमित्र का कहना है कि लामबगड़ क्षेत्र में लगातार हो रही बारिश से हाईवे को सुचारु नहीं किया जा सका है. रविवार को बारिश थमने के बाद हाईवे को वाहनों की आवाजाही के लिए सुचारु कर लिया जाएगा.