पिथौरागढ़ : बादल फटने से प्रभावित क्षेत्रों में खोजबीन अभियान जारी

उत्तराखंड में पिथौरागढ़ के मांगती और मालपा में 14 अगस्त को बादल फटने के बाद से लापता लोगों को खोजने का अभियान शुक्रवार को 12वें दिन भी जारी रहा.

पिथौरागढ़ के जिला मजिस्ट्रेट सी. रवि शंकर ने कहा ‘और शवों के मिलने की आशंका खत्म होने तक खोजबीन अभियान जारी रहेगा.’ आठ शव पहले ही बरामद हो चुके हैं और एक शव काली नदी के पास 23 अगस्त को देखा गया था.

उन्होंने कहा, ‘ऐसी संभावना कम है कि और शव मिलेंगे. हम इस आपदा में अपने परिजन को खो चुके परिवारों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए खोजबीन जारी रखना चाहते हैं.’ उन्होंने बताया कि 23 अगस्त को नौंवा शव बरामद किया गया था, जिसकी पहचान अभी नहीं हो पाई है.

अभी यह स्पष्ट नहीं है कि यह शव 14 अगस्त को मागती और मालपा में बादल फटने की घटना के पीड़ितों में से एक का है या नहीं.

उन्होंने बताया कि बादल फटने की दो घटनाओं के बाद लापता हुए लोगों के साथ मिलान करने के लिए डीएनए को संरक्षित रखा जाएगा.

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय आपदा राहत बल, राज्य आपदा राहत बल, सेना और अर्द्धसैनिक बलों के जवान खोजी कुत्तों और इस तरह के उद्देश्यों के लिए इस्तेमाल की जानी वाली नई प्रौद्योगिकियों की मदद से मांगती और मालपा में पिछले 12 दिन से खोजबीन अभियान में लगे हुए हैं.