पेट्रोल पंपों पर मिलेंगे LED बल्ब, ट्यूबलाइट और पंखे, इन राज्यों से होगी शुरुआत

देश में ऊर्जा दक्षता को बढ़ावा देते हुए डाकघर, किराना दुकानों के बाद अब अगले महीने से पेट्रोल पंपों पर भी बिजली खपत कम रखने वाले एलईडी बल्ब, ट्यूब लाइट और पंखे उपलब्ध होंगे. यह काम फिलहाल महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश के चुनींदा पेट्रोल पंपों से शुरू होगा.

उसके बाद धीरे धीरे देशभर में सभी पेट्रोल पंपों पर ऊर्जा दक्षता बढ़ाने वाले ये उत्पाद उपलब्ध होंगे. ऊर्जा दक्षता परियोजनाओं के क्रियान्वयन के लिए गठित कंपनी ‘एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) के प्रबंध निदेशक सौरभ कुमार ने बताया कि मध्य प्रदेश, झारखंड, तमिलनाडु, उत्तराखंड और बिहार के डाकघरों से एलईडी उत्पादों की आपूर्ति की जा रही है. कुछ राज्यों में दूरदराज इलाकों में किराना दुकानों के जरिए भी इन्हें उपलब्ध कराया गया.

कुमार ने बताया कि हाल ही में सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों के साथ ईईएसएल का समझौता हुआ है. इसके तहत वे देशभर में अपने करीब 50,000 पेट्रोल पंपों पर ऊर्जा दक्ष एलईडी बल्ब और ट्यूब लाइट के बिक्री केन्द्र खोले जाएंगे ताकि ये उत्पाद आम जनता को आसानी से उपलब्ध हो सकेंगें.

ईईएसएल ‘उजाला’ योजना के तहत एलईडी बल्ब और ट्यूब लाइट उपलब्ध करा रही है. इसमें नौ वॉट का एलईडी बल्ब 70 रुपये में, 20 वॉट की ट्यूब लाइट 220 रुपये में और 50 वॉट का ऊर्जा दक्ष पंखा 1,200 रुपये में उपलब्ध होगा.

उन्होंने कहा, ‘फिलहाल सितंबर से महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश स्थित कुछ पेट्रोल पंपों पर इसकी शुरुआत हो जाएगी. आने वाले चार से छह माह के दौरान देशभर के पेट्रोलपंपों पर यह उपलब्ध होने लगेंगे.’ देश में ऊर्जा बचत के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों की जानकारी देते हुए सौरभ कुमार ने कहा कि ईईएसएल के प्रयासों से पिछले दो-ढाई साल में न केवल एलईडी बल्ब और दूसरे उत्पादों के दाम कम करने में मदद मिली है, बल्कि रिकार्ड 25.7 करोड़ एलईडी बल्ब अब तक देशभर में उपलब्ध कराए जा चुके हैं.

इससे कुल मिलाकर 33 अरब यूनिट बिजली की बचत की गई है. उपभोक्ताओं का 13,400 करोड़ रुपये बिजली का बिल कम हुआ और 2.70 लाख टन कार्बन उत्सर्जन कम करने में सफलता हासिल की गई है.