डेरा सच्चा सौदा प्रमुख पर फैसला आने से पहले पंजाब और हरियाणा में हाई अलर्ट

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह का 25 अगस्त को एक पंचकूला सीबीआई अदालत द्वारा उनके खिलाफ बलात्कार के मामले में फैसला आने वाला है. फैसले के मद्देनजर पूरे पंजाब में हाई अलर्ट कर दिया गया है. वहीं, हरियाणा पुलिस को आशंका है कि बाबा राम रहीम के कोर्ट के फैसले के बाद समर्थक उपद्रव कर सकते हैं. जिसके चलते एहतियात के तौर पर प्रशासन ने सिरसा के पेट्रोल पंप के मालिकों को निर्देश दिए हैं कि खुले में तेल न बेचें

पंचकूला के सेक्टर 23 स्थित नामचर्चा घर में करीब 10 हजार से ज्यादा डेरा समर्थकों के एकत्रित हो चुके हैं. वहीं, पंजाब और हरियाणा के अन्य जिलों से डेरा समर्थक पंचकूला में प्रवेश कर रहे हैं. सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस ने जगह-जगह पर नाकेबंदी कर दी है.

बता दें कि बाबा राम रहीम के रेप केस पर पंचकूला कोर्ट को फैसला सुनाना है. ऐसे में पुलिस को उम्मीद है कि राम रहीम के समर्थक उपद्रव कर सकते हैं. इसी का ख्याल रखते हुए पंचकूला कोर्ट के आसपास के इलाकों में गाड़ियों की आवाजाही बंद कर दी गई है।.जरूरी सामान और कोर्ट के कर्मचारियों की गाड़ियों की भी सघन तलाशी ली जा रही है.

बता दें कि साल 2002 में बाबा गुरमीत राम रहीम पर साध्वियों के यौन शोषण के आरोप लगे थे. इसके बाद इसकी जांच हाईकोर्ट ने सीबीआई को सौंप दी थी. एक युवती ने राम रहीम पर यौन शौषण का आरोप लगाते हुए एक पत्र मीडिया, पंजाब-हरियाणा हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश, पीएम के नाम जारी किया था.

जिसके बाद हरियाणा और पंजाब में खूब बवाल मचा. हाई कोर्ट ने संज्ञान लेते हुए 24 सितंबर 2002 को सीबीआई को इस पत्र के आधार पर जांच का जिम्मा सौंपा था. सीबीआई ने जांच को पूरा कर रिपोर्ट को जुलाई 2007 में स्पेशल कोर्ट को सौंप दिया था.