तीन तलाक मसला ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की असफलता है – इमाम बुखारी

इमाम बुखारी - फाइल चित्र

एक साथ तीन तलाक के मसले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को दिल्ली की जामा मस्जिद के इमाम सैयद अहमद बुखारी ने ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की असफलता करार दिया है. बुखारी ने कहा कि यदि बोर्ड ने इस समस्या पर विचार किया होता तो यह मसला सुप्रीम कोर्ट नहीं पहुंचता. बुखारी ने कहा कि देश में मुस्लिम समाज के सामाजिक मुद्दों का रक्षक कहलाने वाले ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने ट्रिपल तलाक पर सही रवैया नहीं अपनाया.

बुखारी ने कहा, ‘आखिर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने ऐक्ट क्यों नहीं किया? इसी वजह से महिलाओं को अदालत तक जाना पड़ गया. मुस्लिम लॉ बोर्ड ने पहले कोर्ट को बताया था कि वह इस प्रैक्टिस को खत्म करने के लिए अडवाइजरी जारी करेगा. यदि कोई ऐसा करेगा तो उस व्यक्ति का सामाजिक बॉयकॉट किया जाएगा.’

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को जारी आदेश में बहुमत से तीन तलाक को असंवैधानिक और अवैध करार दिया.